भारत-बांग्लादेश के बीच T20 World Cup के तहत बुधवार को खेले गए मुकाबले में खासा विवाद हो गया। बांग्लादेश के कप्तान अंपायर्स से डिस्कस करते नजर आए। हालांकि बांग्लादेश की हार के बाद उनके क्रिकेट फैंस ये आरोप लगा रहे हैं कि बांग्लादेश के खिलाफ चीटिंग हो गई। मैदान पर फिसलन होने के बावजूद मैच को जल्दी शुरू करवाया गया।

जबकि बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन ने बारिश के बाद मैच को फिर से जल्दी शुरू करने के बारे में शिकायत करने से इनकार कर दिया। इसके बजाय उन्होंने कहा कि वे डीएलएस मेथड से दिए गए टार्गेट का पीछा करते हुए घबरा गए। उन्हें लगा कि ज्यादातर टीमों ने ऐसा ही किया होगा। सात ओवर में बांग्लादेश 0 विकेट पर 66 रन बना चुका था।

बांग्लादेश की टीम डीएलएस के बराबर स्कोर से 17 आगे थी। जब खेल दोबारा शुरू हुआ तो लिटन दास पहली दो गेंदों पर दौड़ते हुए दो बार फिसले। उनमें से दूसरे ने उन्हें अपना विकेट गंवा दिया। शाकिब ने मैच को फिर से शुरू करने के बारे में कहा- हमारे ड्रेसिंग रूम में किसी ने भी फेयर या अनफेयर के बारे में बात नहीं की। हम खेलना चाहते थे। हम जीतना चाहते थे। सभी ने अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश की, लेकिन हम टार्गेट को हासिल नहीं कर पाए।”

शाकिब से पूछा गया कि शुरुआती हालात कैसे थे, क्या वह चाहते थे कि मैच 10-15 मिनट बाद शुरू हो जाए? शाकिब ने कहा, ‘अंपायर यही फैसला करते हैं। “हम यह निर्णय नहीं लेते हैं। हम वहां क्रिकेट खेलने के लिए हैं। दोनों टीमें पूरे 20 ओवर खेलना चाहती थीं। दुर्भाग्य से बारिश से मैच बाधित हुआ। मैं खुश हूं कि दोनों टीमों ने जिस तरह से खेला। यह सही भावना से खेला गया।