भारत में कोराना वायरस (corona virus) कोहराम मचा रहा है। वही, एआइएमआइएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने सांसद विकास निधि का इस्तेमाल जरूरतमंदों की कोरोना वायरस जांच पर आने वाले खर्च का भुगतान करने में इस्तेमाल करने की इजाजत देने का प्रस्ताव किया है।

न्यूज़ ट्ररैक पर छपी खबर के अनुसार, ओवैसी लोकसभा में हैदराबाद का प्रतिनिधित्व करते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दे क केंद्र ने शनिवार को कोविड-19 की जांच के लिए निजी लैब का भी दरवाजा खोल दिया।

इसके बाद ही ओवैसी ने यह प्रस्ताव किया है। सरकार ने इसकी जांच का खर्च 4500 रुपये निर्धारित किया हैै। अभी तक सरकारी प्रयोगशालाएं ही जांच कर रही हैं और यह जांच मुफ्त है।

इसके अलावा केंद्रीय संसदीय मामलों के मंत्री प्रह्लाद जोशी एवं लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को टैग करते हुए ओवैसी ने कहा है, ‘इस संकट का प्रसार रोकने के लिए हमें जांच बढ़ाने की जरूरत है।

प्रह्लाद जोशी और ओम बिरला से आग्रह है कि सांसदों को, जो रोगी भुगतान नहीं कर सकते उनकी जांच पर आने वाला खर्च सांसद विकास निधि से भुगतान करने की अनुमति दें।

loading...