‘नाथूराम गोडसे से थे सावरकर के शा’रीरिक सं’बंध’, Congress सेवा दल की बुकलेट में दावा! सेवा दल के नेता बोले- लेखक ने सबूत के आधार पर ही लिखा होगा

मध्य प्रदेश के भोपाल में गुरुवार को आयोजित की गई अखिल भारतीय कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय विषारद प्रशिक्षण शिविर में लोगों के बीच इस बुकलेट को बांटा गया।

महात्मा गांधी का हत्यारा नाथूराम गोडसे और हिंदू महासभा के नेता वीर सावरकर के शा’रीरिक सं’बंध थे। कांग्रेस सेवादल की तरफ से प्रशिक्षण शिविर में बांटी गई बुकलेट में यह दावा किया गया है। मध्य प्रदेश के भोपाल में गुरुवार को आयोजित की गई अखिल भारतीय कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय विषारद प्रशिक्षण शिविर में लोगों के बीच इस बुकलेट को बांटा गया। बुकलेट का शीर्षक ‘वीर सावरकर कितने वीर?’ है।

बुकलेट में कहा गया कि ‘ब्रह्मचर्य धारण करने से पहले, नाथूराम गोडसे के एक ही शारीरिक संबंध का ब्यौरा मिलता है। यह समलैंगिक संबंध थे। उनका पार्टनर था उनका राजनैतिक गुरू वीर सावरकर।’ इसके अलावा बुकलेट में यह भी कहा गया कि सावरकर अल्पसंख्यक महिलाओं से बलात्कार करने के लिए लोगों को उकसाते थे। बुकेलट में दावा किया गया है कि सावरकर जब 12 साल के थे तो उन्होंने एक मस्जिद पर पत्थर फेंक कर उसके शीशों को तोड़ दिया था।

बुकलेट में छपे तथ्यों पर विवाद बढ़ने के बाद सेवा दल के लालजी देसाई ने कहा कि ‘लेखक ने जो भी बातें लिखी वह तथ्यों और सबूतों के आधार पर लिखी होगी। लेकिन हमारे लिए यह महत्वपूर्ण नहीं है। आज हमारे देश में सभी को अपनी प्राथमिकताओं को चुनने का पूर्ण कानूनी अधिकार है।’ हालांकि इस दावे पर विवाद खड़ा हो गया है बीजेपी ने इसपर कड़ी आपत्ति दर्ज की है। मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री और विधायक नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा है।

उन्होंने कहा है कि शिवसेना को अब यह सोचना चाहिए कि उसे कांग्रेस से समर्थन को बरकरार रखना चाहिए या नहीं। कांग्रेस की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने खुद सावरकर के नाम पर डाक टिकट जारी किया था। लेकिन कांग्रेस पार्टी जानबूझकर माहौल बिगाड़ने में जुटी हुई है। वहीं बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा, कांग्रेस अपने लोगों को गलत जानकारी, गलत तथ्य पढ़ा रही है। वो अपने लोगों को पप्पू बना रहे हैं। सभी लोग कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की बुद्धि और विवेक पर चलते हैं। कांग्रेस को सही जानकारी जुटानी चाहिए थी। कांग्रेसियों को शर्म आनी चाहिए।’

Source – jansatta.com

loading...