New Delhi: बिहार के मुजफ्फरपुर से दो मुस्लिम लड़कों की लिंचिंग का मामला सामने आया है। जहां अपनी प्रेमिका से मिलने गए मो. नेहाल उर्फ आयान पर छेड़खानी का आरोप लगाते हुए हिंदू भीड़ ने बेरहमी से पीटा। उसे इतना मारा की उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वहीं उसका दोस्त फैजान अस्पताल में बुरी हालत में है।

यह घटना कांटी के महरथा गांव में रविवार शाम छठ घाट पर हुई। नेहाल की उम्र 19 साल बताई जा रही है। दऱअसल छठ घाट पर आयान अपने दोस्त फैजान के साथ गया था। खबर है लड़की ने ही उसे बुलाया था। वहीं लड़की के परिवार वालों ने मुस्लिम शख्स को देखकर भीड़ के साथ दोनों पर हमला बोल दिया।

इस दौरान आयान को इतना पीटा की उसकी मौके पर ही मौत हो गई और फैजान को अधमरा समझकर छोड़ दिया था। बाद में मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। फैजान गंभीर रूप से जख्मी है। इस मामले में पुलिस ने हत्या और मॉब लिंचिंग की धारा में छह नामजद समेत करीब सौ अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। घटना के बाद लड़की पक्ष के लोग घर छोड़कर फरार हैं। बता दें आयान और फैजान के परिवार वाले इंसाफ की गुहार लगा रहे है, इसके लिए उन्होंने प्रदर्शन भी किया।

हिंदुस्तान की खबर के मुताबिक आयान की मां शमीमा खातून ने कहा की उसकी प्रेमिका ने कॉल कर छठ पर मिलने के लिए बुलाया था। वह दोस्त फैजान के साथ महरथा गांव गया था। वहां प्रेमिका के परिवार वालों ने उसे देख लिया। इसके बाद छेड़खानी का आरोप लगाकर लोगों ने उसे पीटा। छट का मौका था इसी बीच में बड़ी संख्या की भीड़ ने आयान व उसके मित्र फैजान को घेर लिया।

भीड़ दोनों की बेरहमी से पिटाई करने लगी। आयान को लड़की वाले घसीटते हुए छठ घाट से दूर ले गए। उसे मौके पर ही पीट-पीटकर मार डाला। भीड़ ने फैजान को अधमरा समझकर छोड़ दिया। छठ घाट पर मौजूद पुलिसकर्मी हिंसक भीड़ के अगे कुछ नहीं कर रहे थे वह अपने समाने इसी घटना को देख रहे थे। जब फैजान मर गया तब कांटी थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेजा गया।

फैजान को पुलिस ने पीएचसी भेजा। वहां से उसे रेफर कर दिया गया। थानेदार संजय कुमार सिंह ने बताया कि कांटी थाने में घटना को लेकर एफआईआर दर्ज की गई है। आयान के पिता मो. बारिक ने बताया कि उनके बेटे को अर्घ्य से काफी पहले लड़की वालों ने पकड़ लिया था। उसके पकड़े जाने की जानकारी हुई तो उन्होंने लड़की के पिता को फोन कर गुहार लगाई। उन्होंने उन लोगों से मिन्नत की कि जितना चाहे मारपीट कर लीजि, हाथ-पांव तोड़ दीजिए लेकिन जान से मत मारिए। बारिक ने बताया किे उन्होंने जब लड़की के पिता से यहां तक कहा कि आप सब आयान को जो सजा देंगे हमें मंजूर होगा, लेकिन वह लोग नहीं माने। भीड़ ने आयान की बेरहमी से हत्या कर दी।

Source – Millat Times