नई दिल्ली। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमजोर वर्ग के उपभोक्ताओं को Electricity bill में बड़ी रियायत देने का ऐलान किया है। जिन उपभोक्ताओं का अप्रैल 2020 में बिजली बिल 100 रुपये आया है, उन्हें आगामी तीन माह तक 100 रुपये का बिल आने पर 50 रुपये का ही भुगतान करना होगा। इसके अलावा 100 रुपये से 400 रुपये तक का बिजली बिल आने वालों को भी राहत देने का ऐलान किया गया है। इस छूट से राज्य सरकार पर 400 करोड़ रुपये से ज्यादा का आर्थिक बोझ पड़ेगा। मुख्यमंत्री ने कहा है कि सरकार प्रदेश में कृषि कार्य के लिए 10 घंटे एवं घरेलू उपभोक्ताओं को 24 घंटे बिजली उपलब्ध करा रही है।

ये है घोषणा

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मार्च 2020 के ऐसे उपभोक्ता, जो संबल योजना में शामिल हैं, जिनके बिल अप्रैल माह में 100 रुपये तक आए हैं, उन उपभोक्ताओं को आगामी तीन माह तक 100 रुपये तक बिल आने पर 50 रुपये ही बिल का भुगतान करना होगा। इस व्यवस्था के अंतर्गत लगभग 30.68 लाख उपभोक्ता लाभान्वित होंगे। राज्य सरकार को इस छूट के चलते 46 करोड़ रुपये का खुद भुगतान करना होगा।


ज्यादा बिजली खर्च वालों को भी राहत

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि ऐसे उपभोक्ता जिनका अप्रैल 2020 में 100 रुपये का बिल आया था, लेकिन मई, जून एवं जुलाई में 100 से 400 रुपये के बीच का बिल है, तो मात्र 100 रुपये ही बिल का भुगतान करना होगा। इस तरह लगभग 56 लाख उपभोक्ताओं को फायदा होगा, वहीं राज्य सरकार को लगभग 255 करोड़ रुपये का खुद भुगतान करना होगा।

इनको भी मिली छूट
राज्य सरकार की तरफ से बिजली उपभोक्ताओं के लिए दी गई रियायत के अनुसार, ऐसे उपभोक्ता जिनका बिल अप्रैल में 100 रुपये से 400 रुपये के बीच का आया था, तथा मई, जून एवं जुलाई में 400 रुपये से अधिक का आता है, तो ऐसे उपभोक्ताओं को बिजली बिल की आधी राशि का भुगतान करना होगा। शेष राशि के भुगतान के संबंध में बिलों की जांच करने के बाद आगामी निर्णय लिया जाएगा। इस छूट को देने से राज्य सरकार को खुद 183 करोड़ रुपये भरना होगा।

loading...