नई दिल्ली | यूपी में बढ़ते अपराधों को लेकर योगी सरकार विपक्ष के नेताओं के निशाने पर है | तो वहीँ अयोध्या में राममंदिर शिलान्यास कार्यक्रम तय होते ही एक नई बहस को कांग्रेस की चर्चित नेत्री अलका लांबा ने जन्म दे दिया है | शिलान्यास कार्यक्रम में अलका लांबा ने पीएम मोदी को अपनी पत्नी के साथ पूजा में बैठने की सलाह दी है | अलका लांबा का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है और देश में चर्चा का विषय बना हुआ है |

अपने ट्वीट में अलका लांबा ने लिखा कि- जो भी आपत्ति जता रहे हैं, मैं जानती हूं वह यह जानते हैं कि #श्रीराम भगवान को भी ख़ुशी होगी अगर PM पूजा में अकेले नहीं बल्कि अपनी धर्म पत्नि, अपनी अर्धांगिनी को भी साथ लेकर बैठें. उस #सीता मैया को भी सम्मान मिलेगा जो अपने भगवान से इतने दिनों से इतनी दूर है. हम सबको भी खुशी होगी

बढ़ते अपराध, कोरोना और बाढ़ पर अलका ने ट्वीट किया कि – कहीं बलात्कार के बाद हत्या, कहीं छेड़छाड़ से बचाने पर हत्या, कहीं उजड़ते घर, गिरते पुल,धसती सडकें, डूबते परिवार,जान से हद होते लोग, कहीं महामारी का शिकार होते लोग, भारत की सीमाओं पर दुश्मन से ख़तरा, इन सब के बीच करोड़ो के विज्ञापनों में चेहरे चमकाते, छवि बनाते हमारे नेता

एक अन्य ट्वीट में अलका लांबा ने कहा कि- देश का कर-दाता : मेरे द्वारा दिये जाने वाले #कर को भविष्य में किसी भी आपदा में मेरे द्वारा दिया गया #दान ही समझा जाए, क्यों कि एक कर-दाता के तौर पर तो अब इस देश में कोई इज्ज़त रही नहीं, कम से कम दान-कर्ता के तौर पर कुछ और नहीं तो थोड़ी इज्ज़त ही कमा लें..

अलका लांबा ने एक अन्य ट्वीट में जनता को सम्बोधित करते हुए कहा कि- तक आपकी बेटी-बहन सुरक्षित है, आप आराम करें- दूसरों के लिए राहुल गांधी बोलेगा. जब तक आपकी नोकरी नहीं जाती-आप अपनी कमाई गिनीये-राहुल गांधी बोलेगा. जब तक आपके साथ अत्याचार और न्याय नहीं होता-आप मस्त रहें-राहुल गांधी बोलेगा. जब आप पर आयेगी-तब उम्मीद ना करें-राहुल गाँधी बोलेगा.

loading...