Joker Malware को लेकर भी कुछ समय पहले खबर सामने आई थी। इसमें दावा किया गया था कि कई यूजर्स के मोबाइल फोन को हैक कर लिया गया था।

New Delhi: Smartphone आने के बाद से लोगों के प्राइवेट डाटा का खतरा भी काफी बढ़ गया है। इससे कई लोगों का स्मार्टफोन हैक भी हो सकता है। स्मार्टफोन को सबसे ज्यादा खतरा ऐप्स से ही होता है। यही वजह है कि जब भी आप अपने स्मार्टफोन में कोई ऐप इंस्टॉल करें तो कई चीजों का खास ध्यान रखें। कई बार हम लोग कुछ चीजों की अनदेखी करके ऐप्स इंस्टॉल कर लेते हैं, लेकिन बाद में वह हमें आर्थिक नुकसान तक पहुंचा देती हैं।

Joker Malware को लेकर भी कुछ समय पहले खबर सामने आई थी। इसमें दावा किया गया था कि कई यूजर्स के मोबाइल फोन को हैक कर लिया गया था। ये मैलवेयर प्ले स्टोर पर मौजूद कई ऐप्स में मौजूद था। हालांकि इस पर गूगल ने लगातार काम किया था। दरअसल ये मैलवेयर कई ऐप्स में मौजूद था और जब यूजर्स ने इन ऐप्स को इंस्टॉल कर लिया तो उनके साथ हैकिंग की भी समस्या आने लगी।

Facebook ने भी किया था खुलासा-

अभी Meta (Facebook) ने भी ऐसा ही दावा किया है। फेसबुक का दावा है कि 10 लाख यूजर्स ने ऐसी ऐप्स को फोन में इंस्टॉल कर लिया है जो उनका पर्सनल डाटा तक चुरा रही हैं। साथ ही इस डाटा का इस्तेमाल गलत तरीके से किया जा रहा है। कंपनी ने अपने ब्लॉग में लिखा था कि ऐसा डाटा ज्यादा मोबाइल कैमरा ऐप्स से संबंधित था। कई लोगों ने ऐसी ऐप्स को मोबाइल में इंस्टॉल किया और प्राइवेट डाटा लीक होना शुरू हो गया था।

कैसे करता है मोबाइल हैक?

दरअसल ऐसी सभी ऐप्स मोबाइल फोन से VPN कनेक्ट कर लेती है। कई मामलों में देखा गया है कि ऐसी ऐप्स के इंस्टॉल होने के बाद बिना OTP पूछे भी मोबाइल फोन से पैसे गायब हो चुके हैं। दरअसल VPN कनेक्ट होने के बाद कोई भी स्मार्टफोन हैक कर सकता है। दरअसल इसके बाद हैकर्स को मोबाइल फोन यूजर्स से OTP भी पूछने की जरूरत नहीं होती है और वह कहीं से भी पूरा मोबाइल फोन ऑपरेट कर सकते हैं।

Source: NBT