जौनपुर: लॉकडाउन के कारण 42 दिनों से बंद चल रही शराब की दुकान खुलने की सूचना से ही शराबियों का उत्पात भी शुरू हो गया है। जौनपुर में एक शराबी पति ने शराब खरीदने के लिए पत्नी से रुपये मांगे। पैसे देने से इनकार करने पर 25 वर्षीय पत्नी की गोली मारकर हत्या कर दी। चार साल के बेटे के सामने ही गर्भवती पत्नी को मौत के घाट उतार कर पति फरार हो गया। कुछ घंटे बाद ही पति को गिरफ्तार कर लिया गया। घटना सरपतहां क्षेत्र के भटौली गांव में हुई।

भटौली गांव स्थित घर पर रविवार की रात दीपक सिंह ने अपनी पत्नी 25 वर्षीया नेहा से शराब खरीदने के लिए पैसे मांगे। पत्नी ने शराब के लिए रुपये देने से इनकार कर दिया। चार साल के बेटे के सामने ही दोनों में विवाद होता रहा। पति ने घर में ही रखा तमंचा निकाला और पत्नी की कनपटी पर गोली मार दी। गोली चलते ही मासूम बेटा बुरी तरह डर गया और भागकर झाड़ी में छिप गया।

गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग मौके पर दौड़े। तब तक पति फरार हो गया। नेहा की लाश देख कोहराम मच गया। गांववालों की सूचना पर शाहगंज के सीओ जीतेन्द्र कुमार दूबे, प्रभारी निरीक्षक विजय कुमार चौरसिया फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने विवाहिता की लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बुरी तरह डर कर भागे चार वर्षीय बेटे को घटना के करीब दो घंटे बाद झाड़ी से बाहर निकाला गया। उसने पुलिस के सामने सारी कहानी बयां कर दी। सुबह पति को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस ने बताया कि नेहा के पेट मे पांच माह का गर्भ था। उसकी शादी पांच साल पहले हुई थी। वह अपने पति के साथ दिल्ली में रहती थी। उसके सास-ससुर अभी दिल्ली में ही हैं। लॉकडाउन के पहले वे सभी दिल्ली से घर आऐ थे। नेहा का पति दीपक सिंह शराबी है। विवाहिता के भाई अंकित सिंह की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

source – livehindustan.com

loading...