अमेरिका में हुए मध्यावधि चुनाव में भारतीय मूल की अमेरिकी महिला नबीला सैय्यद ने इलिनोइस विधानसभा का चुनाव तर इतिहास रच दिया है. वे इस चुनाव को जीतने वाली अबतक की सबसे कम उम्र की विधानसभा में महिला सदस्य बन गई हैं. नबीला सैय्यद की उम्र अभी मात्र 23 साल है और इस बार के अमेरिकी मध्यावधि चुनावों में उन्होंने रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी क्रिस बोस को हराया है. इलिनोइस के रूप में 51 वें जिले के लिए हुए स्टेट हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव के चुनाव में बीला को 52.3% वोट मिले हैं.

इस जीत की खुशी उन्होंने सोशल मीडिया पर शेयर की है. अपने ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट को शेयर करते हुए, नबीला सैयद ने लिखा, “मेरा नाम नबीला सैयद है. मैं एक 23 वर्षीय मुस्लिम, भारतीय-अमेरिकी महिला हूं. हमने अभी-अभी एक रिपब्लिकन-आयोजित शहरी निकाय का चुनाव जीता है.. उन्होंने आगे लिखा, “और जनवरी में मैं इलिनॉइस विधानसभा की सबसे कम उम्र की सदस्य बनूंगी.” एक ट्वीट के जवाब में, सैयद ने लिखा, “आने वाले कल के लिए सभी लोगों के कमेंट का धन्यवाद. हमारे पास एक अविश्वसनीय टीम थी जिसने इसे संभव बनाया.”

Twitter

नबीला सैयद ने इंस्टाग्राम पर अपने इस चुनावी सफर के बारे में ताते हुए एक लंबा नोट भी लिखा है. अपने मिशन के बारे में बात करते हुए, उन्होंने कहा, “जब मैंने राज्य प्रतिनिधि के लिए घोषणा की तो मैंने इसे लोगों के साथ बातचीत में शामिल होने के लिए एक मिशन बना दिया. बेहतर लोकतंत्र के लिए उनके मूल्यों का प्रतिनिधित्व करने वाले एक बेहतर नेतृत्व का चुनाव करने के लिए लोगों का आह्वान किया. “

बीला सैयद ने कहा कि उन्होंने यह चुनाव को जीता, क्योंकि हमने लोगों से बातचीत की, लोगों तक अपनी बात पहुंचाई ” इसके साथ ही समर्थन देने के लिए उन्होंने सबको धन्यवाद दिया और कहा, “मैंने इस जिले में हर दरवाजे पर दस्तक दी. कल, मैं उन्हें मुझ पर भरोसा करने के लिए धन्यवाद देने के लिए फिर से दस्तक देना शुरू करूंगी और अब मैं काम पर जाने के लिए तैयार हूं.”

नबीला सईद की इंस्ट्राग्राम पोस्ट

सोशल मीडिया पर लोगों ने सैयद को बधाई दी. एक यूजर ने ट्विटर पर लिखा, ‘युवाओं के आगे आने पर मुझे बहुत गर्व है… यह तुम्हारा समय है. महान कार्य करो. दूसरे यूजर ने लिखा- शानदार काम, नबीला सैयद, आप कभी अकेली नहीं हैं और हम हर कदम पर आपके साथ खड़े हैं. इस तरह से सोशल मीडिया पर नबीला सैय्यद को बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है. सब उनके उज्जवल भविष्य की कामना कर रहे हैं.