गुड़गाँव : भैंस का गोश्त ले जा रहे युवक के गौ आतंकियो ने हथौड़े से पैर तोड़े जबकि नामर्द पुलिस साथ खड़े देखती रही

  • गौ आतंकियो के एक दल ने गौमांस तस्करी के शक में आठ किलोमीटर तक एक गाड़ी का पीछा किया और उसे रोककर उसके ड्राइवर की बुरी तरह पिटाई कर दी। गौ आतंकियो ने ड्राइवर लुकमान पर हथौड़ों से हमला किया और बीच सड़क पर घसीट-घसीट कर मारा।

देश की राजधानी से सटे शहर गुरुग्राम में एकबार फिर गौ आतंकियो की हैवानियत देखने को मिली है। गौ आतंकियो के एक दल ने गौमांस तस्करी के शक में आठ किलोमीटर तक एक गाड़ी का पीछा किया और उसे रोककर उसके ड्राइवर की बुरी तरह पिटाई कर दी। गौ आतंकियो ने ड्राइवर लुकमान पर हथौड़ों से हमला किया और बीच सड़क पर घसीट-घसीट कर मारा। घायल होने के बावजूद उसे पीटते रहे।

इस दौरान वहां मौजूद न तो भीड़ ने उसे बचाने की कोशिश की और न ही हरियाणा पुलिस ने मामले में दखल दिया। पीड़ित पिटता रहा और पुलिस तमाशबीन बनी रही। लोगों ने इस घटना को अपने मोबाइल में कैद कर लिया। बाद में पुलिस पीड़ित को उसकी गाड़ी समेत आठ किलोमीटर पीछे बादशाहपुर गांव ले गई, जहां से गौ आतंकियो ने उसका पीछा करना शुरू किया था। वहां पहुंचने पर फिर गौ आतंकियो ने लुकमान की फिर से पिटाई शुरू कर दी।

गुड़गाँव : भैंस का गोश्त ले जा रहे युवक के गौ आतंकियो ने हथौड़े से पैर तोड़े जबकि नामर्द पुलिस साथ खड़े देखती रही । Irfan Saifi

Posted by Irfan Saifi on Saturday, August 1, 2020

वीडियो में साफ दिख रहा है कि चार-पांच गौ आतंकियो ने लुकमान को घेर रखा है। कोई उसकी टांग पकड़ कर खींच रहा है तो कोई हथौड़े से लगातार उसके शरीर पर वार कर रहा है। बाद में पुलिस ने लुकमान को अस्पताल में भर्ती कराया लेकिन उससे पहले पुलिस ने मांस को फॉरेंसिक लैब में भेजना उचित समझा। 2015 में नोएडा के दादरी में भी पुलिस ने मॉब लिंचिंग के आरोपियों को पकड़ने की बजाय मांस की जांच कराने में तत्परता दिखाई थी।

गुरुग्राम में शुक्रवार को सुबह 9 बजे के करीब जहां ये घटना घटी वहां कई मल्टीनेशनल कंपनियों के दफ्तर हैं। सड़क पर लोगों की अच्छी खासी भीड़ भी थी। गुरुग्राम पुलिस ने मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। गाड़ी के मालिक का कहना है कि गाड़ी में भैंस का मांस था। और वो पिछले 50 साल से इस कारोबार में हैं। पुलिस ने मामले में किसी तरह की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। वीडियो में भी दिख रहा है कि पुलिस पिटाई की इस घटना को चुपचाप देख रही थी।

loading...