कोरोना वायरस के कारण अब पश्चिमी देशों में अपनाया जा रहा है यह इस्लामी और भारतीय तरीका

पश्चिमी देशों में कोरोना वायरस (corona virus) के जोर पकड़ने से लॉक डाउन जैसे स्थिति है जिससे आम लोगों को कई चीजों की किल्लत का सामना करना पड़ रहा हैं. इसमें एक अहम चीज़ टॉयलेट पेपर हैं.

पश्चिमी देशों में शौच के बाद टॉयलेट पेपर का इस्तेमाल होता हैं. लेकिन लॉक डाउन के कारण बड़े-बड़े सुपरमार्केट मेे टॉयलेट पेपर मिलना मुश्किल हो गया हैं. ऐसे में अब अमेरिका और यूरोप में टॉयलेट पेपर के बदले शौच के बाद पानी का इस्तेमाल करने का तरीका बढ़ता जा रहा हैं.

शौच के बाद पानी का इस्तेमाल करना यह इस्लामी और भारतीय तरीका हैं. इस्लाम में टॉयलेट पेपर का इस्तेमाल करने की इजाज़त नहीं है लेकिन जहां पानी उपलब्ध न हो तब मजबूरी में टॉयलेट पेपर को इस्तेमाल में लाया जा सकता हैं.

भारत में भी सभी लोग शौच के बाद पानी का इस्तेमाल करते है और यहां टॉयलेट पेपर का इस्तेमाल नहीं के बराबर हैं. कोरोना वायरस से थोड़ी समय के लिए ही क्यों हो दुनिया बदल गई है और कोरोना वायरस ने पश्चिमी देशों को भारतीय तरीके पर चलने पर मजबूर कर दिया हैं.

loading...