बीजिंग: चीन के वैज्ञानिकों (Chinese Scientists) ने कोरोना वायरस को लेकर एक ऐसा खुलासा किया है जिसने पूरे विश्व में हलचल मचा दी है. दरअसल, चीन के वैज्ञानिकों का कहना है कि करोना वायरस संक्रमित पुरुष के स्पर्म की जांच की गई जिसमें कम मात्रा में ही सही, किन्तु कोरोना वायरस मिले हैं. इस जांच के बाद कहा जा रहा है कि से’क्शुअल रिलेशन से भी कोरोना संक्रमण फैलने का जोखिम बढ़ गया है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स की खबर के अनुसार, चीन के शांगक्यू म्युनिसिपल हॉस्पिटल में एडमिट कोरोना वायरस से पीड़ित 38 पुरुष मरीजों की जांच में ये बात सामने आई है. इनमें से 6 मरीजों के स्पर्म में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया है.

वैज्ञानिकों का कहना है कि ये निष्कर्ष शुरुआती हैं और बहुत ही कम लोगों पर ये अध्ययन किया गया है. ऐसे में ये कहना अभी कठिन है कि सेक्शुअल रिलेशन से कोरोना का संक्रमण फैल सकता है या नहीं. इसके लिए अधिक लोगों की जांच करने की आवश्यकता होगी. यह अध्ययन जामा नेटवर्क (JAMA Network) में प्रकाशित हुआ है.

उन्होंने कहा कि जिन 6 लोगों के स्पर्म में कोरोना का संक्रमण मिला है उनमें से कुछ पहले ही स्वस्थ हो चुके हैं. किन्तु उनके स्पर्म में कोरोना वायरस का संक्रमण मिला है. ऐसे में हो सकता है कि कोरोना सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिसीज की श्रेणी में आ जाए. इस अध्ययन को लेकर ब्रिटेन के शेफील्ड यूनिवर्सिटी में एंड्रोलॉजी के प्रोफेसर एलेन पैसी ने कहा है कि कोरोना वायरस सेक्शुअली ट्रांसमिट होता है कि नहीं, अभी तक इसके कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं.

loading...