लखनऊ: कुछ वर्षों पूर्व आई फिल्म ‘अग्निपथ’ तो याद होगी। इस फिल्म में राउफ लाला बीच चौराहे पर एक लड़की को खड़ा कर बोली लगाता है। ठीक ऐसा ही दृश्य यूपी में बुलंदशहर के अहमदगढ़ थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले एक गांव में देखने को मिला है। यहां 20 से 80 साल की आयु तक के लोग जुटे थे।

50 हजार रुपए से 16 साल की किशोरी की बोली शुरू हुई। बोली लगाने वालों का नंबर आता तो वे बिलकुल अग्निपथ के दृश्य की तरह ही किशोरी को छूते। वहीं रोते-रोते किशोरी की आंखें लाल हो चुकी थीं, किन्तु किसी की आंखों में न तो शर्म थी और न ही मानवता। 

इसी बीच किसी के द्वारा सूचना दिए जाने पर पुलिस वहां पहुंची। पुलिस के वहां पहुंचते ही भगदड़ मच गई और कई खरीदार भाग गए। दो महिलाओं सहित सात लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। महिला सेल की सुरक्षा में किशोरी अपने परिजनों की प्रतीक्षा कर रही है।

अहमदगढ़ थाना इंचार्ज धनेंद्र यादव ने बताया है कि रांची (झारखंड) की 16 साल की लडक़ी की मां का लगभग एक साल पहले निधन हो गया था। उसकी सौतेली मां ने रांची के गांव पिसका नगरी नारो बस्ती की निवासी कलावती को 50 हजार रुपए में बेच दिया।

कलावती किशोरी को लेकर नौरंगाबाद गांव पहुंची। पूरे गांव में किशोरी के बेचे जाने की खबर फैलाई गई। भीड़ जमा हुई तो बोली लगने लगी।  एक शख्स ने 80 हजार रुपए की अधिकतम कीमत लगाई थी, तभी पुलिस पहुंच गई। मौके से कलावती, खुर्जा निवासी राजेश देवी, धीरेंद्र, औरंगाबाद के गांव गंगाहारी निवासी जितेंद्र, इंद्र सिंह, अहमदगढ़ के नौरंगाबाद निवासी महेंद्र को अरेस्ट कर लिया है।

loading...