14 बार प्रेग्नेंट होने की कोशिश रही नाकाम तो एक्ट्रेस ने मानी सलमान की सलाह .. और बन गयी जुड़वा बच्चों की मां

बॉलीवुड के दबंग खान यानि की सलमान खान को कौन नहीं जनता है सलमान खान के चाहने वाले लोग पूरी दुनिया में मौजूद है उनकी फैंस फोल्लोविंग देश ही नहीं बल्कि विदेशो में भी है सलमान खान अपनी दरिया दिली के लिए भी बहुत मशहूर है उन्होंने कई लोगो को अपने साथ फिल्मो में जगह देकर उनकी लाइफ सेट कर दी है सलमान खान ने बॉलीवुड को एक नयी दिशा दी है इन्होने अपने करियर में कई साडी हिट फिल्मे दी है.

हाल ही में बिग बॉस 14 में नज़र आईं कश्मीरा शाह शो में थोड़े समय के लिए जरूर आईं लेकिन अच्छी-खासी चर्चा बटोर ले गईं. कश्मीरा इन दिनों अपने बोल्ड फोटोशूट की वजह से चर्चा में हैं जिसकी तस्वीरें उनके पति कृष्णा अभिषेक ने सोश’ल मीडिया पर शेयर की थीं. वैसे, कश्मीरा इंडस्ट्री का जाना-माना नाम हैं. फिल्मों से ज्यादा वह अक्सर पर्सनल लाइफ की वजह से सुर्खियों में रही हैं. आपको बता दें कि कश्मीरा ने कृष्णा से दूसरी शादी की है. दोनों ने 2015 में डेटिंग शुरू की.

फिल्म पप्पू पास हो गया के सेट से शुरू हुई. दोनों शूटिंग के बाद सारा वक्त साथ गुजारने लगे और फिर बेहद करीब आ गए. 2007 में कश्मीरा ने अपने पहले पति ब्रैड लिस्टरमैन से तलाक लिया और कृष्णा के साथ कई सालों तक लि’व इन में रहने लगीं.

आखिरकार दोनों ने 2013 में अपने रिश्ते को शादी का नाम देकर घर बसा लिया.कश्मीरा की स्ट्रगल शुरू हुई जब उन्हें कंसीव करने में दिक्कत आई. नेचुरली प्रेग्नेंट ना होने पर कश्मीरा और कृष्णा ने आईवीएफ तकनीक सहारा लिया लेकिन बात नहीं बनी.

एक इंटरव्यू में कश्मीरा ने बताया था कि उन्होंने प्रेग्नेंट होने की 14 बार नाकाम कोशिश की. इसके बाद सलमान खान ने उन्हें सरोगेसी की सलाह दी जो कि उनके लिए बेहद कारगर साबित हुई. कृष्णा-कश्मीरा ने सरोगेसी का सहारा लिया और 2017 में इनके यहां दो जुड़वा बेटों का जन्म हुआ जिसके बाद इनकी ज़िंदगी खुशियों से भर गई.

क़तर मैच देखने आया ब्राज़ीली परिवार ने अपनाया इस्लाम धर्म, रोते हुए बताया कि वीडियो…

कतर में फुटबॉल विश्व कप 2022 में जहां दिलचस्प वीडियो और तस्वीरें सामने आ रही हैं, वहीं मुसलमानों के बारे में भी कई दिलचस्प बातें सामने आ रही हैं ऐसे ही एक अंग्रेज परिवार का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, उस परिवार वालों के बारे में बताया जा रहा है वो ब्राजील से कतर मैच देखने आया था लेकिन अब वो मुस्लिम हो गया है।

वायरल वीडियो में दिख रहा है की उनके चेहरे पर मुस्कान, और उनकी आवाज में इमोशन और आंखों में आंसू के साथ इस महिला ने कहा कि यह बेहद अनोखा और दिलचस्प पल है ब्राज़ीली परिवार की महिला के चेहरे पर खुशी साफ दिखाई दे रही है यही नही काला दुपट्टा पहने महिला ने आगे बढ़ कर कहा कि यह पल दिल को छू लेने वाला है।

महिला के परिवार के अन्य सदस्यों के साथ,मौजूद थे जो खुशी से नहीं फुले नही समा रहे थे और मुस्कान के माध्यम से अपनी भावनाओं को दिखा रहे थे, जबकि वीडियो बनाने वाले ने परिवार के सभी सदस्यों से पूछा कि क्या उन्होंने खुशी से इस्लाम स्वीकार किया है। जवाब में, वीडियो में सभी सदस्यों ने खुशी से हां में उत्तर दिया।

जबकि परिवार के सदस्यों ने ये भी वीडियो में गवाही दी उन्होंने इस्लाम कबूल कर लिया। वहीं इस्लाम कबूल करने की शहादत लेने वाले ने अल्लाह से दुआ भी की, इस दौरान इस्लाम कबूल करने वाले परिवार के चेहरे पर भी खुशी देखी गई. सोशल मीडिया यूजर्स परिवार की तारीफ कर रहे हैं और उनके अच्छे होने की कामना कर रहे हैं।

FIFA World Cup में क़तर ने कायम की मेहमाननवाज़ी की मिसाल, दर्शकों को मुश्क और ऊद जैसे महंगे इत्र गिफ़्ट

कतर ने वादा किया है कि 2022 FIFA World Cup एक स्थायी छाप छोड़ेगा।

फीफा विश्व कप कतर 2022 की टीम ने प्रत्येक सीट पर गुडियों का एक बैग – अन्य चीजों के साथ ऊद की एक बोतल छोड़ी है, जो उन्हें उस इतिहास की याद दिलाएगा जिसका वे रविवार को हिस्सा थे।

क़तर ने ऐसा इतिहास रच दिया कि पूरी दुनिया अब इस रिकॉर्ड को तोड़ने की सोच ही सकती है।

क़तर ने हर आम और खास मेहमानों, दर्शकों को मुश्क और ऊद जैसे महंगे इत्र गिफ़्ट किया है। मेहमान नवाज़ी की ऐसी मिसाल क़ायम हुई की गोरे कभी भूल न पायेंगे।

VIDEO: FIFA World Cup के 92 साल के इतिहास में पहली बार क़तर स्टेडियम में बच्चों ने क़ुरान की तिलावत की गई

FIFA World Cup के 92 साल के इतिहास में पहली बार (स्टेडियम का) उद्घाटन समारोह कतर में हुफाज द्वारा कराये ये क़ुरान ए पाक की तिलावत से शुरू हुआ।

FIFA World Cup opening ceremony Qatar

यह ऐतिहासिक नज़ारा और कल्पना कीजिए कि ये नज़ारा दुनिया भर के अरबों लोगों द्वारा देखे जा रहे हैं। सुभान अल्लाह ।माशा अल्लाह |

FIFA World Cup opening ceremony in Qatar Stadium

देखिये वीडियो:

सऊदी सरकार ने भारतीयों को दिया बड़ा तोहफ़ा, अब अगर किसी को सऊदी काम करने जाना है तो..

Riyadh: पिछले लम्बे समय से ये बातें सामने आ रही थीं कि जो लोग काम करने के लिए सऊदी अरब जाना चाहते हैं वो लोग PCC यानी पुलिस क्लीयरिंग सर्टिफिकेट police clerification certificate की वजह से परेशान हैं. इस प्रक्रिया में समय बहुत लगता था और इस वजह से कई वर्क वीज़ा लटके रह जाते थे. इसी वजह से कई लोग बहुत परेशानी में थे. इसी को देखते हुए भारत सरकार लगातार सऊदी सरकार से संपर्क बनाये हुए थी और कोशिश में थी कि इस प्रक्रिया में ढील दी जाए.

इसी को देखते हुए सऊदी अरब ने फैसला किया है कि अब भारतीय नागरिकों को उसके देश का वीजा हासिल करने के लिए पुलिस क्लीयरेंस सर्टिफिकेट (पीसीसी) जमा करने की जरूरत नहीं होगी। दिल्ली में सऊदी दूतावास ने ट्वीट किया, सऊदी अरब और भारत के बीच मजबूत संबंधों और रणनीतिक साझेदारी को देखते हुए किंगडम ने भारतीय नागरिकों को पुलिस क्लीयरेंस सर्टिफिकेट जमा करने से छूट देने का फैसला किया है।

दूतावास की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि भारतीय नागरिकों को वीजा हासिल करने के लिए अब पीसीसी जमा करने की जरूरत नहीं होगी। ये फैसला दोनों देशों के बीच बढ़ते संबंधों को और बेहतर करने के लिए उठाया गया है। दूतावास सऊदी अरब में शांतिपूर्वक रह रहे 20 लाख भारतीय नागरिकों के योगदान की सराहना करता है।

दूतावास ने लिखा, ‘सऊदी अरब (Saudi Arabia) और भारत के बीच मजबूत संबंधों और रणनीतिक साझेदारी को देखते हुए किंगडम ने भारतीय नागरिकों को पुलिस क्लीयरेंस सर्टिफिकेट (PCC) जमा करने से छूट देने का फैसला किया है.’

सऊदी अरब दूतावास की तरफ से जारी किए गए लेटर में कहा गया कि भारतीय नागरिकों को वीजी प्राप्त करने के लिए अब पुलिस पुलिस क्लीयरेंस सर्टिफिकेट जमा करने की आवश्यता नहीं होगी. दूतावास ने कहा कि यह फैसला दोनों देशों के संबंधों को और मजबूत करने के प्रयासों के तहत लिया गया है. दूतावास ने कहा कि वो सऊदी अरब में शांतिपूर्वक रह रहे 20 लाख से अधिक भारतीय नागरिकों के योगदान की सराहना करता है.

जामिया मस्जिद में लगी भीषण आग

केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के कारगिल जिले में एक प्रमुख मस्जिद में भीषण आग लग गई.

समाचार एजेंसी के एएनआई के मुताबिक जामिया मस्जिद, कारगिल के द्रास इलाके में हैं और आग ने पूरी मस्जिद को अपनी चपेट में ले लिया है.

pic – ANI

लोगों ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि पुलिस, स्थानीय निवासी और दमकलकर्मी आग बुझाने की कोशिश कर रहे हैं.

ब्रिटेन में चला मोदी मैजिक! ऋषि सुनक ने भारतीयों के लिए दी 3000 वीजा की मंजूरी, कल ही हुई मुलाकात

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने भारत के युवा पेशेवरों को हर साल यूके में काम करने के लिए 3,000 वीजा के लिए हरी झंडी दे दी है। ब्रिटिश सरकार ने कहा कि भारत इस तरह की योजना से लाभान्वित होने वाला पहला देश है। यूके के प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा, “आज यूके-इंडिया यंग प्रोफेशनल्स स्कीम की पुष्टि की गई, जिसमें 18-30 साल के शिक्षित भारतीय नागरिकों को 3,000 वीजा और दो साल तक काम करने की पेशकश की गई है।”

आपको बता दें कि ब्रिटिश सरकार के द्वारा यह घोषणा G20 शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ब्रिटिश पीएम ऋषि सुनक की मुलाकात के कुछ घंटों बाद हुई है। पिछले महीने पहले भारतीय मूल के ब्रिटिश पीएम के पदभार संभालने के बाद यह उनकी पहली मुलाकात थी।

नई यूके-इंडिया यंग प्रोफेशनल्स स्कीम के तहत ब्रिटेन 18-30 वर्षीय डिग्री-शिक्षित भारतीय नागरिकों को दो साल तक यूके में रहने और काम करने के लिए यूके आने के लिए सालाना 3,000 वीजा की पेशकश करेगा। डाउनिंग स्ट्रीट ने एक बयान में कहा, “योजना का शुभारंभ भारत के साथ हमारे द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने की दिशा में महत्वपूर्ण क्षण है। इससे भारत-प्रशांत क्षेत्र के साथ दोनों देशों की अर्थव्यवस्थाओं को मजबूत करने में भी मदद मिलेगी।”

UK prime minister Rishi Sunak and Narendra Modi

आपको बता दें कि यूके में सभी अंतरराष्ट्रीय छात्रों में से लगभग एक चौथाई भारत से हैं। ब्रिटेन वर्तमान में भारत के साथ एक व्यापार समझौते पर बातचीत कर रहा है। यदि दोनों देशों में सहमति बनती है तो यह भारत का एक यूरोपीय देश के साथ अपनी तरह का पहला सौदा होगा।

यूके पीएमओ ने कहा, “मई 2021 में यूके और भारत के बीच एक ऐतिहासिक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए थे, जिसका उद्देश्य हमारे देशों के बीच गतिशीलता बढ़ाना था।”

सऊदी अरब में वीजा की वैधता बढ़ाने के लिए यह प्रक्रिया हुई जरूरी, सभी कामगार जानें यह नियम

Riyadh: VISIT VISA के रिन्यूअल के लिए नया हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम आवश्यक है। सऊदी के Health Insurance Council ने कहा है कि विजिट वीजा के रिन्यूअल के लिए नए हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम का पेमेंट जरूरी है।

बताते चलें कि काउंसिल ने अपने ट्विटर हैंडल के माध्यम से जानकारी देते हुए बताया है कि जब कोई व्यक्ति भी विजिट वीजा को एक्सटेंड करने के लिए आवेदन करता है तो उसके लिए नया हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम आवश्यक है।

TRANSIT VISA की वैधता 3 महीने की होगी

कहा गया कि हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम पंजीकृत इंश्योरेंस कंपनियां से मिल जाएगा। कहा गया है कि transit visa की वैधता 3 महीने की होगी और लोग बिना किसी चार्ज के 96 घंटे तक रुक सकते हैं।

सऊदी की इस कंपनी में नौकरी लगते ही करोड़पति बन जाते हैं कर्मचारी, सैलरी पैकेज जान रह जाएंगे हैरान

आज के समय में हर कोई ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाना चाहता है. सभी ऐसा जॉब चाहते हैं जिसमें उन्हें अधिक से अधिक सैलरी मिले. खाड़ी देश सउदी अरब लोगों के इसी ख्वाब को पूरा करने की कोशिश में जुटा है. क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की महत्वकांक्षी योजनाओं में से एक नियोम (Neom) अपने सीनियर एग्जीक्यूटिव कर्मचारियों को 11 लाख डॉलर यानी करीब 9.5 करोड़ रुपये का पैकज दे रही है.

आपको बता दें कि इस बात की जानकारी कंपनी के आंतरिक दस्तावेजों से हुई है. नियोम प्रोजेक्ट की शुरुआत साल 2017 हुई थी. अब कंपनी के कर्मचारी को सैलरी के रूप में हर महीने 75 लाख रुपये मिलेंगे. आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि इतनी सैलरी तो अमेरिकी कंपनी भी ऑफर नहीं करती है. इस पैकेज से पता चलता है कि सऊदी अरब मोहम्मद बिन सलमान के नेतृत्व में दुनियाभर की प्रतिभाओं को लुभाने की कोशिश में जुटा हुआ है.

jobs in Saudi Arabia

नियोम मेगाडेवलपमेंट प्रोजेक्ट को सऊदी अरब की सबसे महत्वाकांक्षी योजना में से एक माना जा रहा है. इस योजना के तहत प्रिंस सलमान का मकसद सामाजिक और आर्थिक सुधारों के तहत रियल स्टेट की एक दर्जन से ज्यादा नई कंपनियों को सऊदी अरब में स्थापित करना है. ऐसे में सऊदी अरब विदेशी अधिकारियों की भर्ती कर रहा है ताकि देश पर्यटन, प्रौद्योगिकी और मनोरंजन क्षेत्र को बढ़ावा दिया जा सके. बता दें कि सऊदी अरब दुनिया का सबसे बड़ा तेल निर्यातक देश है. लेकिन रूढ़िवादी परंपराओं के चलते इस देश की दुनिया की नजरों में अच्छी छवि नहीं बन सकी. लिहाजा अब बेहतर छवि के लिए महिलाओं की आजादी को लेकर भी कई तरह की पाबंदियां हटाई गई हैं.

salery in Saudi Arabian company

ज्यादातर कंपनी अपने कर्मचारियों को जो सैलरी देती है उसमें से टैक्स भी काटती है. लेकिन आपको बता दें, नियोम कंपनी कर्मचारियों को बिना टैक्स डिडक्शन के पूरी सैलरी मिलेगी. इस प्रोजेक के लिए अरबों डॉलर की रकम अलॉट की गई थी.. नियोम एक आलीशान आइलैंड रिजॉर्ट के रूप में बनकर तैयार होगा. इस रिजॉर्ट में शैम्पेन और शराब की भी व्यवस्था रहेगी, फिलहाल सऊदी अरब में शराब बैन है.

US Election: भारतीय मूल की मुस्लिम महिला नबीला सैय्यद ने अमेरिका में रचा इतिहास, 23 साल की उम्र में जीता चुनाव

अमेरिका में हुए मध्यावधि चुनाव में भारतीय मूल की अमेरिकी महिला नबीला सैय्यद ने इलिनोइस विधानसभा का चुनाव तर इतिहास रच दिया है. वे इस चुनाव को जीतने वाली अबतक की सबसे कम उम्र की विधानसभा में महिला सदस्य बन गई हैं. नबीला सैय्यद की उम्र अभी मात्र 23 साल है और इस बार के अमेरिकी मध्यावधि चुनावों में उन्होंने रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी क्रिस बोस को हराया है. इलिनोइस के रूप में 51 वें जिले के लिए हुए स्टेट हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव के चुनाव में बीला को 52.3% वोट मिले हैं.

इस जीत की खुशी उन्होंने सोशल मीडिया पर शेयर की है. अपने ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट को शेयर करते हुए, नबीला सैयद ने लिखा, “मेरा नाम नबीला सैयद है. मैं एक 23 वर्षीय मुस्लिम, भारतीय-अमेरिकी महिला हूं. हमने अभी-अभी एक रिपब्लिकन-आयोजित शहरी निकाय का चुनाव जीता है.. उन्होंने आगे लिखा, “और जनवरी में मैं इलिनॉइस विधानसभा की सबसे कम उम्र की सदस्य बनूंगी.” एक ट्वीट के जवाब में, सैयद ने लिखा, “आने वाले कल के लिए सभी लोगों के कमेंट का धन्यवाद. हमारे पास एक अविश्वसनीय टीम थी जिसने इसे संभव बनाया.”

Twitter

नबीला सैयद ने इंस्टाग्राम पर अपने इस चुनावी सफर के बारे में ताते हुए एक लंबा नोट भी लिखा है. अपने मिशन के बारे में बात करते हुए, उन्होंने कहा, “जब मैंने राज्य प्रतिनिधि के लिए घोषणा की तो मैंने इसे लोगों के साथ बातचीत में शामिल होने के लिए एक मिशन बना दिया. बेहतर लोकतंत्र के लिए उनके मूल्यों का प्रतिनिधित्व करने वाले एक बेहतर नेतृत्व का चुनाव करने के लिए लोगों का आह्वान किया. “

बीला सैयद ने कहा कि उन्होंने यह चुनाव को जीता, क्योंकि हमने लोगों से बातचीत की, लोगों तक अपनी बात पहुंचाई ” इसके साथ ही समर्थन देने के लिए उन्होंने सबको धन्यवाद दिया और कहा, “मैंने इस जिले में हर दरवाजे पर दस्तक दी. कल, मैं उन्हें मुझ पर भरोसा करने के लिए धन्यवाद देने के लिए फिर से दस्तक देना शुरू करूंगी और अब मैं काम पर जाने के लिए तैयार हूं.”

नबीला सईद की इंस्ट्राग्राम पोस्ट

सोशल मीडिया पर लोगों ने सैयद को बधाई दी. एक यूजर ने ट्विटर पर लिखा, ‘युवाओं के आगे आने पर मुझे बहुत गर्व है… यह तुम्हारा समय है. महान कार्य करो. दूसरे यूजर ने लिखा- शानदार काम, नबीला सैयद, आप कभी अकेली नहीं हैं और हम हर कदम पर आपके साथ खड़े हैं. इस तरह से सोशल मीडिया पर नबीला सैय्यद को बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है. सब उनके उज्जवल भविष्य की कामना कर रहे हैं.