देश के वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ जो अपनी निष्पक्ष पत्रकारिता की वजह से जाने जाते हैं| यह देश के उन चुनिंदा पत्रकारों में शुमार होते हैं जो समाज को आइना दिखाने का काम करते हैं|

वह अपने इस वीडियो में ताजमहल को टूरिस्ट प्लेस से हटाये जाने पर योगी सरकार की कड़ी आलोचना की है| इन्होने कहा है कि मुगलों के समय में और खासकर शाहजहाँ के समय में भारत का जीडीपी 24 फीसद था, जो उस समय दुनियां में सबसे ज्यादा है, और आज भारत की जीडीपी सिर्फ 3.7 फीसद है|

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से जारी किए गए टूरिस्ट प्लेस में सिर्फ हिन्दुओं के धार्मिक स्थलों को लिस्टिंग किया गया है और ताजमहल और इमाम बाड़ा जैसे जगहों को हटा दिया गया है| इस पर उन्होंने सवाल किया कि क्या सिर्फ हिन्दू होना भरतीयता है?

वीडियो:

LEAVE A REPLY