नई दिल्ली: देश में जैसा माहौल होता है उस माहौल की झलक सोशल मीडिया पर दिखती है अभी माहौल उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव का है. और ताजा कहानी इटावा में अखिलेश की समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार को लेकर है. वायरल वीडियो के जरिए दावा है कि इटावा से एसपी उम्मीदवार जुआं खेल रहे थे?

28 सेकेंड के वायरल वीडियो में सफेद कुर्ता पायजामा पहने और पत्ते फेंटने वाला ये शख्स क्या मुलायम परिवार के गढ़ इटावा से समाजवादी पार्टी का उम्मीदवार हैं? उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में दावे तो कई तरह के हो रहे हैं लेकिन ये दावा बिल्कुल हट के है. इस वीडियो को एसपी उम्मीदवार से जोड़ते हुए नेताजी की तारीफ में कसीदे पढ़े गए हैं

हिमांशु पांडे ने लिखा- देख लो भाई जुआ खेलते एसपी नेता का काम बोलता है
हेमंत चौधरी लिखते हैं- ये हैं इटावा से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार कुलदीप गुप्ता जुआं खेलते हुए. क्या ये काम बोलता है अखिलेश जी आपका

28 सेकेंड का वायरल वीडियो शुरू होता है तो सफेद कुर्ता पायजामा पहने शख्स पत्ते फेंकते हुए नजर आता है सफेद रंग की चादर बिछी हुई है जिस पर 500 रुपए के हरे-हरे नोट साफ दिखाई दे रहे हैं. पत्ते फेंकने वाले शख्स के पास भी 500 के नोटों को ढेर लगा हुआ है. वहां शायद रोशनी कम थी इसलिए जुआं खेल रहे लोगों में से एक ने मोबाइल का फ्लैश जला रखा है.

ताश के पत्ते, नोटों की गड्डियां और वहां मौजूद मंडली ये देखकर दो बातें साफ हैं पहली की जुआं खेला जा रहा था. और दूसरी की वीडियो पुराना लगता है क्योंकि नोट 500 रुपए के हैं जो बंद हो चुके हैं. लेकिन सवाल ये है कि क्या ये वायरल वीडियो समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार का है? इस सवाल का जवाब जानने के लिए हमने उत्तर प्रदेश की इटावा सीट पर अपनी पड़ताल शुरू की.

एबीपी न्यूज संवाददाता विनीता यादव ने इटावा सीट पर सबसे पहले इस बात की पड़ताल की वहां से कुलदीप गुप्ता नाम का कोई एसपी उम्मीदवार है या नहीं. पड़ताल में पता चला कि कुलदीप गुप्ता इटावा सदर सीट से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं. इसके बाद हमने इटावा में लोगों को ये वीडियो दिखाया और उनसे पूछा कि क्या उन्होंने ये वायरल वीडियो देखा है?

गांव वालों के मुताबिक ये वीडियो 4-5 महीने पुराना है. गांव वालों ने कहा कि वायरल वीडियो में कुलदीप गुप्ता ही दिख रहे हैं. जिन्हें संटू भी कहा जाता है. इसके बाद हम सीधे एसपी उम्मीदवार कुलदीप गुप्ता के पास पहुंचे और उनसे वीडियो का सच पूछा.

कुलदीप गुप्ता ने कहा कि ये हमारा वीडियो नहीं है, आजकल तो व्हाटसऐप का जमाना है. किसी के वीडियो पर किसी का भी फोटो लगा देते हैं. वीडियो में जो लोग है उन्हे मैं जानता हूं, ये कारनामे करने वाले लोग है. लेकिन ये लोग हमारे परिचित नहीं है ये रमेश चंद्रा है जिससे इनकी शक्ल बिल्कुल मिलती है. हम आपको उनसे मिलवा भी सकते है. जब वो निकलता है तो लोग देखकर कहते है कि संटू निकल गया. वो बिल्कुल हमारे जैसा दिखता है, आप देखकर चौंक जाएंगी. हालांकि जब हमने उनसे हमशक्ल मिलवाने से कहा तो कुलदीप गुप्ता बात को टाल गए.

एबीपी न्यूज ने जब कुलदीप गुप्ता से सच पूछा तो उन्होंने राम और श्याम जैसी एक हमशक्ल वाली कहानी पेश कर दी. अब मामले में नया मोड़ आ चुका था. एबीपी न्यूज संवाददाता विनीता यादव ने दोबारा कुछ गांव वालों के पास पहुंची और हमने उनसे पूछा कि इस गाव में कुलदीप गुप्ता का कोई हमशक्ल है क्या जिसका नाम रमेश चंद्र है? गांव वालों ने कहा कि ये तो संटू है मैने इटावा में इनके जैसे शक्ल के किसी और को नहीं देखा है. मैने तो रमेश चंद्र के बारे में भी नहीं सुना है. अगर किसी ने देखा हो तो मुझे भी दिखाए. हम सब इसको पहचानते है. दूसरा गांव का ही व्यक्ति बोला कि ये संटू ही है. इनके हर जगह फोटो और स्टीकर लगे हुए हैं. ये हमारे नगर पालिका के अध्यक्ष है. हम लोग नहीं पहचानेगे तो कौन पहचानेगा.

गांव वाले एक सुर में कह रहे थे कि जुआं खेलने वाला शख्स और एसपी उम्मीदवार कुलदीप गुप्ता दोनों एक ही हैं. इतना ही नहीं समाजवादी पार्टी के नेता रामसेवक भी कुलदीप गुप्ता पर सवाल उठा रहे हैं. एबीपी न्यूज की पड़ताल में एसपी उम्मीदवार के जुआं खेलने वाला वीडियो सच साबित हुआ है.

LEAVE A REPLY