बॉडर पर तैनार भारतीय सैनिकों के रोज नए किस्से सामने आ रहे हैं। कभी वीडियो तो कभी वह खुद सामने आकर सेना की सच्चाई के बार में देश को बता रहे हैं।

बता दें कि ताजा मामले में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई, बीएसएफ के जवान तेज बहादुर मामले के बाद जाहिर तौर पर काफी खुश नजर आ रही है। कुछ दिन पहले सीमा सुरक्षा बल की 29वीं बटालियन के जवान तेज बहादुर ने आरोप लगाया था कि आला आधिकारी जवानों के लिए भेजे गए भोजन और अन्य जरूरी सामान को ऊंचे दामों में बाजार में बेच देते हैं। अब माना जा रहा है कि आईएसआई और आतंकवादी संगठन इस मौके का फायदा उठाने की फिराक में हैं।

एनबीटी की एक रिपोर्ट के मुताबिक बीएसएफ के एक उच्च अधिकारी ने बताया कि सीमा पर ऐसे कई स्थान हैं जहां भारतीय और पाकिस्तानी सीमा चौकियां बॉर्डर के आमने-सामने स्थित हैं- ऐसी ही कुछ चौकियां गुजरात फ्रंटियर के बाड़मेर सेक्टर में भी हैं। इन चौकियों पर पाकिस्तानी रेंजर्स हमारे जवानों को ताना मारते हुए कहते हैं कि अगर तुम भूखे हो तो इस तरफ आ जाओ। हमारे पास खाना है। बीएसएफ ने पहले ही भ्रष्टाचार का आरोप लगाने वाले एक अन्य जवान नवरत्न चौधरी मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं। चौधरी फिलहाल कच्छ के गांधीधाम में हेड कॉन्सटेबल (मिनिस्ट्रियरियल) के पद पर तैनात हैं।

बीएसएफ के एक आला अधिकारी ने दावा किया कि जवान तेज बहादुर का विडियो सोशल मीडिया पर आने के बाद आईएसआई काफी खुश थी। हालांकि उन्होंने कहा कि चौधरी के आरोपों के मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं लेकिन सोशल मीडिया पर इस तरह की पोस्ट BSF, जिसे भारतीय डिफेंस की पहली पंक्ति कहा जाता है, की छवि को नुकसान पहुंचाती हैं। बीएसएफ अधिकारी ने कहा, ‘पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई और सीमा-पार से काम कर रहे आतंकवादी संगठन भारतीय जवानों द्वारा सोशल मीडिया पर पोस्ट कीं जा रहीं इस तरह की पोस्ट का फायदा उठा रहे हैं, इससे बीएसएफ का मनोबल गिरता है।

LEAVE A REPLY