Loading...

मध्य प्रदेश पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते (ATS) ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के लिए जासूसी करने के शक में 11 भगवा आतंकवादी को गिरफ्तार किया है।

इन पर कॉल सेंटर की आड़ में सेना से जुड़ी गोपनीय जानकारी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को भेजने का आरोप है। एटीएस चीफ संजीव शमी ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जासूसी रैकेट के बारे में खुलासा किया। एटीएस चीफ ने बताया कि अब तक ग्वालियर से 5, भोपाल से 3, जबलपुर से 2 और सतना से एक भगवा आतंकवादी की गिरफ्तारी की गई है।

Loading...

यह भी पढ़ें –BJP नेता का रिश्तेदार जितेंद्र ठाकुर कॉल सेंटर की आड़ में ISI को भेजता था गोपनीय जानकारी

उन्होंने बताया कि इस पूरे रैकेट में निजी मोबाइल कंपनियों के कर्मचारियों की मिलीभगत के संकेत भी मिले हैं। भगवा आतंकवादी कॉल सेंटर का संचालन करते थे। इसके जरिए नौकरी और लॉटरी की आड़ में सूचनाओं का लेन-देन किया जा रहा था।

यह भी पढ़ें – बीजेपी और बजरंग दल के धरे गए पाकिस्तानी जासूसों के तार उड़ी और पठानकोट आतंकी हमले से जुड़ रहे

पिछले साल जम्मू-कश्मीर में सुखविंदर और दादू नाम के 2 आरोपियों की गिरफ्तारी हुई थी। इन दोनों से हुई पूछताछ में खुलासा हुआ था कि देशद्रोही गतिविधियों में मध्य प्रदेश से मदद मुहैया कराई जा रही थी। इस इनपुट के आधार पर एटीएस ने अपना जाल बिछाते हुए अब तक 11 भगवा आतंकवादी को धरदबोचा है।

पढ़ें – PAK को कॉल सेंटर्स की आड़ में भेज रहे थे मिलिट्री की सीक्रेट इन्फॉर्मेशन, जितेंद्र ठाकुर समेत 11 भगवा आतंकवादी गिरफ्तार

Source

विडियो देखे :- Ads

loading…


Loading...