सऊदी अरब अपने सख्त नियम और कानून के लिए दुनियाभर में मशहूर है.

हाल ही में सऊदी अरब में फिर से 14 लोगों को मौत की सजा सुनाई गई है. बताया जा रहा है कि इन लोगों पर साल 2011 से 2012 के बीच सरकार विरोधी प्रदर्शनों में शामिल होने का आरोप है.

आपको बता दें कि सऊदी अरब में सख्त इस्लामिक कानून के तहत बीते साल ही 153 लोगों को सजा-ए-मौत दी गई थी. इनमें से ज्यादातर लोगों को भीड़ के बीच सिर कलम करके मौत दी गई थी.

आइए आज हम आपको बताते हैं कि सऊदी अरब में किन अपराधों के लिए कौन सी सजा दी जाती है.

अपराध और उसके लिए दी जाने वाली सजा

1- सऊदी अरब में ईशनिंदा या जादूटोना करनेवाले लोगों को दोषी पाए जाने पर इस्लामिक कानून के तहत मौत की सजा दी जाती है.

2- सऊदी अरब का कानून इतना ज्यादा सख्त है कि अगर कोई व्यक्ति राजद्रोह या आंतकवाद जैसी गतिविधियों में शामिल पाया जाता है तो उसे मौत की सजा से कोई नहीं बचा सकता है.

3- बलात्कार और समलैंगिकता जैसे मामलों में दोषी पाए जानेवाले व्यक्ति को यहां माफी या जेल की सजा नहीं दी जाती है बल्कि आरोपी को सीधे सजा-ए-मौत दी जाती है.

4- इरादतन या गैर इरादतन हत्या जैसे अपराध करनेवाले आरोपी को इस्लामिक कानून के तहत मौत की सजा दी जाती है.

5- सऊदी अरब में शराब पीना भी अपराध के अंतर्गत आता है इसलिए जो भी व्यक्ति शराब पीता हुआ पकड़ा जाता है तो उसे सजा के तौर पर 500 कोड़े लगाए जाते हैं.

6- शादी के बाद किसी गैर मर्द या औरत के साथ शारीरिक संबंध बनाने वाले आरोपी औरत या मर्द को सजा के तौर पर पत्थर से मारकर मौत के घाट उतार दिया जाता है.

7- सऊदी अरब में शादी से पहले शारीरिक संबंध बनाने को भी गैरकानूनी माना जाता है और ऐसा करनेवाले व्यक्ति को दोषी करार देते हुए सजा के तौर पर 100 कोड़े लगाए जाते हैं.

8- सऊदी अरब में चोरी और लूटपाट जैसी वारदात को अंजाम देनेवाले आरोपी को उसका दायां हाथ काटकर सजा दी जाती है.

9- वहीं चोरी और लूटपाट के साथ हत्या की वारदात को अंजाम देनेवाले व्यक्ति को बिल्कुल भी बख्शा नहीं जाता है बल्कि उसे मौत की सजा दी जाती है.

10- सऊदी अरब में ड्रग्स की स्मगलिंग और उसके इस्तेमाल पर पाबंदी है अगर किसी ने ऐसा किया तो उसे सजा के तौर पर कोड़े मारने से लेकर मौत तक की सजा दी जाती है.

गौरतलब है कि सऊदी अरब में अपराधों पर लगाम लगाने के लिए ही सख्त कानून बनाए गए हैं और यहां दोषी पाए जाने पर किसी को भी माफी नहीं मिलती बल्कि उसे सजा दी जाती है.

LEAVE A REPLY