रियाद: सऊदी अरब की सरकार ने एक प्रमुख अरबपति सहित 14 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. उन पर आरोप है की उन्होंने सत्ता का सहारा लेकर भ्रष्टाचार किया है. एक रिपोर्ट के कहा है कि राज्य के युवा राजकुमार सत्ता मजबूत करता है. सऊदी अरबपति में गिरफ्तार लोगों में से राजकुमार अल वलीद बिन तलाल प्रमुख हैं.

अरब न्यूज़ के मुताबिक भ्रष्टाचार विरोधी आयोग को गठन किया गया था जिसकी अध्यक्षता शक्तिशाली क्राउन प्रिन्स मोहम्मद बिन सलमान ने की थी. सरकारी सऊदी प्रेस एजेंसी ने कहा कि आयोग का लक्ष्य था सार्वजनिक धन की रक्षा करना, भ्रष्ट लोगों को सजा देना और जो लोग अपनी स्थिति का फायदा उठाना चाहते हैं.

नीचे दिए गये यह उन लोगों के नाम की सूची है जिन्हें बर्खास्त किया गया है :

वालीद बिन तलल (किंगडम होल्डिंग ग्रुप का अरबपति मालिक)

राजकुमार मीताब बिन अब्दुल्ला (नेशनल गार्ड के पूर्व मंत्री)

प्रिंस तुर्की बिन अब्दुल्ला (रियाद के पूर्व राज्यपाल)

राजकुमार तुर्की बिन नस्सेर

वालेद इब्राहिम (एमबीसी मीडिया कंपनी के मालिक)

खलीद अल तुवाजीरी (रॉयल कोर्ट के पूर्व राष्ट्रपति)

एडेल फाकिह (पूर्व लेबर मंत्री और वर्तमान अर्थव्यवस्था और नियोजन मंत्री)

ओमर दबाघ (जनरल इंवेस्टमेंट अथॉरिटी के पूर्व अध्यक्ष)

सालेह कमल (अरबपति)

सऊद अल-टोबाशी (रॉयल समारोहों और प्रोटोकॉल के पूर्व प्रमुख)

इब्राहिम अल-असफ (पूर्व वित्त मंत्री और वर्तमान राज्यमंत्री)

बकर बिन लादिन (बिन लादिन ग्रुप के मालिक)

सऊद अल-डेविस (सऊदी दूरसंचार कंपनी के पूर्व सीईओ)

खालिद अल-मुल्हेम (सऊदी अरब एयरलाइंस में पूर्व महानिदेशक)