केंद्र सरकार ने एक बार फिर से नियमों में बदलाव किया है। अब बैंक में कैश लेन-देन करने के आपको अपने पास ओरिजिनल आईडी कार्ड रखना होगा। वरना आप एक निश्चित रकम से ज्यादा का लेनदेन नहीं कर पाएंगे।

देश में किसी भी बैंक में व्यक्ति 50,000 रुपए से अधिक का लेनदेन करता है तो उसे अपने पहचान पत्र और ओरिजिनल डॉक्यूमेंट ले जाना पड़ेगा। बता दें कि इस नए नियम को जारी करने के लिए वित्त मंत्रालय के राजस्व विभाग ने मनी लॉन्ड्रिंग कानून में संशोधन किया है।

इस संशोधन के मुताबिक, बैंक से 50,000 रुपए का कैश लेनदेन या खाता खोलते समय ग्राहक की पहचान स्थापित करना होगा और साथ ही आईडी कार्ड का सत्यापन कराना होगा।

केंद्र सरकार ने यह बदलाव फर्जी आईडी कार्ड का यूज कर रहे लोगों पर शिकंजा कसने के लिए किया है। नियम के मुताबिक, बैंकों व अन्य वित्तीय संस्थानों को इसे सिर्फ देखना ही नहीं है, रिकार्ड में भी शामिल करना है।
इस नियम के मुताबिक, यह नियम उन लोगों के लिए भी है, जो दस लाख या उससे ज्‍यादा की विदेशी मुद्रा का लेनदेन कर रहे हैं। वित्त मंत्रालय द्वारा जारी नोटिफिकेशन में कहा गया है कि यदि आधिकारिक वैध दस्‍तावेज में नया पता नहीं है, तो बिजली, वाटर व पाइप्‍ड गैस बिल व पोस्‍टपेड टेलिफोन बिल भी चल जाएगा लेकिन यह बिल दो महीने से ज्‍यादा पुराना नहीं होना चाहिए।

LEAVE A REPLY