शाहजहांपुर: यह मामला यूपी के शाहजहांपुर का है। जहां तिरंगा यात्रा में खुद हिन्दू युवा वाहिनी (HYV) सांप्रदायिकता फैलाने की कोशिश की। एक वीडियों में हिन्दू युवा वाहिनी की पोल खोल कर रख दी है।

हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने तिरंगा लगे डंडों से पहले हिन्दू युवक को बुरी तरह से पीटा। फिर बाद में एक समुदाय विशेष के युवकों पर तिरंगा यात्रा पर हमला करने का आरोप लगा दिया था। पुलिस और प्रशासन की सूझबूझ से मामला तो टल गया, लेकिन एक वीडियों ने हिन्दू युवा वाहिनी के मंसूबों पर पानी फेर दिया।

क्या था पूरा मामला?
ये वायरल वीडियो 31 जनवरी 2018 का है। इसी दिन यहां के तिलहर इलाके में तिरंगा यात्रा के दौरान हिन्दू युवा वाहिनी के दो कार्यकर्ता घायल हो गये थे। उस वक्त हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने अफवाह फैला दी कि तिरंगा यात्रा पर दूसरे समुदाय के युवकों ने हमला किया है। जिसके बाद इलाके में माहौल गर्म हो गया था। लेकिन इन्हीं हिन्दू वाहिनी के कारनामों का वीडियो वायरल होने पर इनकी असलियत सामने आ गई।

तिरंगे का किया अपमान
वायरल हुए वीडियो में हिन्दू युवा वाहिनी के लोग तिरंगा लगे डंडे से ही ब्रिजेश नाम के युवक को मिलकर बुरी तरह से पीट रहे। जिस तिरंगे के सम्मान में ये तिरंगा यात्रा निकाली गई थी, उसी तिरंगे से युवक को पीटकर उसका अपमान किया जा रहा है। इसके बाद इसी विवाद में गोविन्द और प्रदुम्म नाम के दो कार्यकर्ताओं के भी चोटें आई थी। इस वीडियो में हरी जाकेट वाला युवक हिन्दू युवा वाहिनी का कार्यकर्ता है, जो किस तरह से ब्रिजेश को पीट रहा और कैमरे के सामने किस तरह से सफेद झूठ बोलकर दूसरे समुदाय के युवक पर आरोप लगाया।

पुलिस और प्रशासन में हड़कंप
तिरंगा यात्रा पर हमले की खबर से पुलिस और प्रशासन में हड़कंप मच गया था क्योंकि यात्रा पर हमले का झूठा आरोप एक समुदाय विशेष के युवकों पर लगाया गया था जबकि वो घटना में शामिल ही नहीं थे। फिलहाल, पुलिस भी सकते में रही लेकिन बाद में हकीकत जान गई कि सारा खेल खुद हिन्दू युवा वाहिनी ने ही रचा था। जिसका खुलासा इस वीडियों ने कर दिया है।

Leave your reply

Loading...

LEAVE A REPLY