सीबीआई में चल रहे घमासान में उलझी केंद्र सरकार के लिए अब नई मुसीबत RBI रिजर्व बैंक की तरफ से आ रही है. आरबीआई के वरिष्ठ अधिकारियों ने सरकार पर रिजर्व बैंक के कामकाज में दखल देने का आरोप लगाया है. और ऐसा बंद ना होने पर इसके बुरे परिणाम भुगतने की चेतावनी दी है.

इस बयान के अलावा आरबीआई बैंक के कर्मचारी यूनियन ने चिट्ठी लिखी है कि सरकार के द्वारा बैंक की स्वायत्तता को खतरा पहुंचाया जा रहा है. कर्मचारियों ने डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य के उस बयान का भी समर्थन किया है, जिसमें उन्होंने सरकार की दखलअंदाजी को लेकर कामकाज किया था.

पटेल के इसी बयान को ढाल बनाकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार को आड़े हाथों लिया है. कांग्रेस अध्यक्ष Rahul Gandhi ने सोमवार को कहा कि यह देखना सुखद है कि आखिरकार भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल केंद्रीय बैंक को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ‘बचा रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि देश भाजपा-आरएसएस को संस्थाओं पर कब्जा नहीं करने देगा.

पटेल और ‘टीम मोदी’ के बीच टकराब की खबरों के बाद गांधी ने कहा कि गवर्नर के RBI के बचाव में आने में कोई विशेष देरी नहीं हुई है.

गांधी ने ट्वीट किया, “यह अच्छा है कि आखिरकार पटेल आरबीआई को ‘मिस्टर 56’ से बचा रहे हैं. कभी नहीं से विलंब बेहतर, भारत भाजपा/आरएसएस को हमारी संस्थाओं पर कब्जा नहीं करने देगा.”

बिजय हजारे ट्रॉफी में युसूफ पठान की धमाकेदार बल्लेबाजी, सिर्फ़ 23 गेंदों पर बना डाले इतने रन

बता दें कि बीते कुछ दिनों से उर्जित पटेल और मोदी सरकार के बीच सबकुछ अच्छा नहीं चल रहा है. लगातार इस प्रकार की खबरें आ रही हैं, हाल ही के कई मामलों के कारण पटेल सरकार से खुश नहीं हैं.

यहां क्लिक करें और पढ़ें

Loading...