तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तय्यिप एर्दोगान ने सोमवार को इस्तांबुल के नए अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन किया , जिसे दुनिया का सबसे बड़ा एअरपोर्ट कहा जा रहा है। इस मौके पर एर्दोगान ने कहा ये नया हवाई अड्डा हमारे देश का गौरव और दुनिया का एक उदाहरण होगा।

बता दें की इसे आम लोगों के लिए सोमवार से खोल दिया गया है। 9 करोड़ यात्रियों की क्षमता (वार्षिक) वाले एयरपोर्ट का तुर्की के गणतंत्र दिवस (29 अक्टूबर) के मौके पर राष्ट्रपति रेचप तैयप अर्दोआन ने उद्घाटन किया । 19 हजार एकड़ में फैले एयरपोर्ट से 250 एयरलाइंस 350 से अधिक जगहों के लिए उड़ान भरेंगी। इसका निर्माण पूरा होने में करीब 10 लगे हैं। इसका कुछ हिस्सा अभी भी पूरा किया जाना है।

खूबसूरत इंटीरियर और हाईटेक एयरपोर्ट : एयरपोर्ट के इंटीरियर में तुर्की और इस्लामिक डिजाइन का बेहद खूबसूरती से इस्तेमाल किया गया है। यहां ट्यूलिप आकार के एयर ट्रैफिक कंट्रोल टॉवर को 2016 में इंटरनेशनल आर्किटेक्चर अवॉर्ड भी मिल चुका है। यह एयरपोर्ट कई लिहाज से काफी हाइटेक बनाया गया है। कस्टमर्स को मोबाइल एप्लिकेशन और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की मदद से सुविधाएं दी जाएंगी।
दिसंबर के अंत तक भव्य उद्घाटन : इस प्रोजेक्ट में करीब 35 हजार कर्मचारी शामिल थे जिसमें 3 हजार इंजीनियर और प्रशासनिक स्टाफ था। इस्तांबुल ग्रैंड एयरपोर्ट के डायरेक्टर जनरल कादरी के अनुसार इसकी औपचारिक ओपनिंग 29 अक्टूबर को है लेकिन भव्य उद्घाटन दिंसबर के अंत तक होगा।

यहां क्लिक करें और पढ़ें

Loading...