नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मंत्री सुरेश राणा ने दलित के घर भोजन करना महंगा पड़ गया. दलित के घर खाना खाने के बहाने राजनीति करने की कोशिश का भांडा फोड़ हुआ है. दरअसल, मंत्री सुरेश राणा अलीगढ़ में दलित के घर भोजन करने गये थे, मगर वहां दलित के घर का खाना खाने के बजाय बाहर से मंगाया खाना खाया.

दरअसल, रात्रि प्रवास के नाम पर यूपी के मंत्री सुरेश राणा मंगलवार को अलीगढ़ के लोहागढ़ में रजनीश कुमार नामम शख्स के यहां रूके. वहां उन्होंने इसकी जानकारी घर वालों को पहले से नहीं दी थी, ताकि खाने का इंतजाम परिवार कर सके. मंत्री ने बाहर से ही खाना मंगवाया और वहां पर इसका इंतजाम कराया. मंत्री जी के खाने में पालक पनीर, मखनी दाल, छोला, रायता, तंदूर, कॉफी रसगुल्ला और मिनरल वाटर के इंतजाम किये गये थे.

बताया जा रहा है कि ये सारे इंतजाम मंत्री जी के कहने पर प्रशासन की ओर से किये गये थे. होटल से ही खाने का इंतजाम किया गया था. इतना ही नहीं मंत्री जी के विश्राम के लिए डबल बेड का गद्दा और चारों ओर से तूफानी हवा फेंकने वाले पानी के कूलर लगे हुए थे. यह सारी व्यवस्थाएं की एक सामुदायिक भवन में की गई थी, जिसे किसी होटल की तरह सजा दिया गाय था.

घर के मालिक रजनीश ने कहा कि उसने कभी नहीं सोचा था कि उसके घर कभी मंत्री रात के ग्यारह बजे अचानक आ सकते हैं. रजनीश ने कहा कि मुझे नहीं पता था कि मंत्री जी रात के खाने पर मेरे घर आ रहे हैं. वह अचानक आ गये. उनके खाने-पीने का सारा इंतजाम बाहर से किया गया.

LEAVE A REPLY