इलाहाबाद पुलिस ने बीस दिन पहले हुई बसपा नेता की हत्या में शामिल दो आरोपियों को गिरफ्तार कर घटना का खुलासा करने का दावा किया है. पुलिस इस वारदात में शामिल अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है.

एसपी सिटी सिद्धार्थ मीणा ने बताया कि पकड़े गए दोनों आरोपी प्रतापगढ़ के रहने वाले हैं. दोनों इलाहाबाद में किराये के कमरे में रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते थे. घटना वाली रात ये दोनों सीनियरों के कहने पर छात्रसंघ चुनाव के एक प्रत्याशी के समर्थन में ताराचंद्र हॉस्टल गए थे. कर्नलगंज थाना क्षेत्र के ताराचंद्र हॉस्टल में आधी रात को बसपा नेता राजेश यादव अपने साथी डॉक्टर के साथ पहुंचे थे, जहां हॉस्टल से बाहर निकलने पर रास्ते में छात्रों के गुट से कहासुनी हुई. विवाद बढ़ा तो एक छात्र ने राजेश को गोली मार दी और फरार हो गए.

पुलिस इस वारदात में शामिल अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है. वहीं इस घटना के वक्त बसपा नेता के साथ मौजूद रहे उनके डॉक्टर दोस्त का पुलिस नार्को टेस्ट कराने की तैयारी में है. घटना के बाद मृतक की पत्नी ने डॉक्टर के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज करवाया था.

पुलिस डॉक्टर के भूमिका की जांच कर रही है. पुलिस अफसरों का कहना है कि जल्द ही लखनऊ में डॉक्टर का नार्को टेस्ट करवाया जाएगा. आपको बता दें कि तीन अक्टूबर को कर्नलगंज थाना क्षेत्र में सुबह बसपा नेता की हत्या की खबर फैलते ही उनके समर्थकों ने जमकर उत्पात मचाया था. घटना के वक्त बसपा नेता के साथ मौजूद रहे डॉक्टर के हॉस्पिटल में तोड़फोड़ करने के साथ ही पुलिस पर पथराव और बस में तोड़फोड़ और आगजनी की थी.

LEAVE A REPLY