भोपाल- शेहला मसूद के मर्डर की सुपारी देने वाली जाहिदा परवेज भाजपा विधायक ध्रुवनारायण सिंह के प्यार में इस कदर पागल थी कि वो भाजपा के तत्कालीन विधायक के यूज्ड कंडोम भी प्लास्टिक पाउच में संभालकर रखती थी। इतना ही नहीं वो प्लास्टिक पैक के ऊपर उसको यूज करने की तारीख भी लिखती थी। बता दें कि 6 साल चले इस केस में 137 तारीखों पर सुनवाई हुई। इस दौरान CBI ने 83 गवाह पेश किए थे।

शेहला RTI एक्टिविस्ट थीं। उनका भोपाल में 2011 में मर्डर हुआ था। शेहला(38)घर से ऑफिस जाने के लिए निकली थीं। जैसे ही वे कार में बैठीं,उन्हें गोली मार दी गई। फैसला आने के बाद शेहला के पिता ने कहा,’मैं फैसले का सम्मान करता हूं। अब मेरी बेटी तो वापस नहीं आएगी। मुझे और कुछ नहीं कहना।’पड़ोसियों ने भी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

जाहिदा के आफिस की करीब 2 घंटे तलाशी ली गई थी। इसमें ऐसे कई सबूत हाथ लगे थे, जो साबित करते थे कि BJP के ताकतवर नेता ध्रुव नारायण सिंह के साथ जाहिदा के प्रेम संबंध थे। उनकी दूसरी प्रेमिका शेहला थी। जाहिदा इसी कारण से शेहला को पसंद नहीं करती थी।

CBI को जाहिदा की डायरी से ध्रुव के साथ उसके अवैध यौन संबंधों की जानकारी पता चली थी। आफिस से एक सीडी रिकॉर्डिंग, वहीं प्लास्टिंग की थैलियों में संभालकर रखे यूज्ड कंडोम भी मिले थे। उन पर इस्तेमाल की तारीख भी लिखी गई थी। मामला तूल पकड़ने के बाद ध्रुव नारायण सिंह को BJP के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

जाहिदा ने दावा किया था कि ध्रुव ने ही उसे साकिब अली ‘डेंजर’ से मिलवाया था। हालांकि जाहिदा पर्याप्त सबूत नहीं दे सकी। CBI ने 15 अगस्त, 2011 को शेहला को किए गए ध्रुव के कॉल की जांच की। उसके बाद पॉलीग्राफ टेस्ट भी करवाया गया। बाद में क्लीन चिट दे दी गई।

LEAVE A REPLY