नई दिल्ली। बीजेपी द्वारा उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में किसी भी मुसलमान कैंडिडेट को टिकट न दिए जाने से नाराज़ शकील आलम सैफी ने पार्टी के नेताओं पर जमकर हमला बोला है। शकील ने कहा कि “उत्तर प्रदेश में बीजेपी ने किसी मुस्लिम कैंडिडेट को टिकट नहीं दिया है, वह कौन सा मुंह लेकर मुसलमानों के पास जाएं और उनसे कहें कि बीजेपी को वोट दो।” शकील आलम सैफी बीजेपी की अल्पसंख्यक राष्ट्रीय कार्यकारिणी सेल के सदस्य हैं।

इंडियन एक्सप्रेस अखबार में छपी रिपोर्ट के मुताबकि शकील ने कहा कि “ये ठीक है कि मुसलमान बीजेपी को वोट नहीं देते हैं, लेकिन बीजेपी भी मुसलमानों के वोट लेने का प्रयास नहीं करती।” उन्होंने कहा कि “बीजेपी को आगामी चुनाव में कुछ मुस्लिम कैंडिडेट को टिकट देना था जिसके चलते वह मुसलमानों के पास जाकर बीजेपी को वोट देने के लिए कहते” उन्होंने कहा कि “उत्तर प्रदेश में 403 विधान सभा सीटें हैं, ये बीजेपी भी भलीभांति जानती है कि सभी सीटें नहीं जीतेगी, बीजेपी को डर है कि अगर वह मुस्लिम कैंडिडेट को टिकट देगी तो वे हार जाएंगे।”

बीजेपी की अल्पसंख्यक राष्ट्रीय कार्यकारणी सेल के सदस्य शकील आलम सैफी ने कहा कि “वह मुरादाबाद की बिलारी विधान सभा सीट से चुनाव लड़ना चाहते थे। ये मुस्लिम बाहुल्य इलाका है, लेकिन पार्टी ने टिकट नहीं दिया।”

आपको बता दें कि 2012 के विधान सभा चुनाव में बीजेपी ने शकील आलम सैफी को बदायूं की साहसवान सीट से टिकट दिया था जहां वो बुरी तरह से पराजित हुए थे। उस चुनाव में सैफी की जमानत भी जब्त हो गई थी उन्हें मात्र 2,238 वोट ही मिले थे। जमानत जब्त होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि “2012 के विधान सभा चुनाव में बीजेपी के 229 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हुई थी।”

LEAVE A REPLY