नई दिल्ली: राम मंदिर पर बोले बाबा रामदेव ने कहा है कि यदि न्यायालय के निर्णय में देर हुई तो संसद में जरूर इसका बिल आएगा, आना ही चाहिए. बाबा रामदेव ने कहा है कि राम जन्मभूमि पर राम मंदिर नहीं बनेगा तो किसका बनेगा? रामदेव ने आगे कहा है कि संतो और रामभक्तों ने संकल्प किया है अब राम मंदिर में और देर नहीं, मुझे लगता है कि इसी वर्ष शुभ समाचार देश को मिलेगा. वहीं राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष राम विलास वेदांती का दावा है कि राम मंदिर का निर्माण दिसंबर में शुरू हो जाएगा. उनका कहना है कि बिना किसी अध्यादेश के आपसी सहमति के आधार पर मंदिर का निर्माण किया जाएगा. अयोध्या में राम मंदिर बनेगा और लखनऊ में मस्जिद बनेगी.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले में सुनवाई को टाल दिया है. इसके बाद आरएसएस ने सरकार से मांग की है कि वह संसद में कानून बनाकर जमीन का अधिग्रहण करे और मंदिर बनाने का रास्ता साफ करे. वहीं शुक्रवार को आरएसएस के शिविर में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, मोहन भागवत से मिलने पहुंचे और इसके बाद संघ की ओर से भैया जोशी ने प्रेस कांन्फ्रेंस की और कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो राम मंदिर के लिए 1992 जैसा आंदोलन करेंगे.

राम मंदिर के लिए फिर आन्दोलन की क्या जरूरत?, सरकार को क्यों नहीं गिरा देती RSS?- शिवसेना

वहीं राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा ने राम मंदिर के लिए संसद के शीतकालीन सत्र में प्राइवेट बिल लाने का भी ऐलान किया है. फिलहाल ऐसा लग रहा है चुनावी साल में राम मंदिर का मुद्दा एक बार फिर से गरमा रहा है.

यहां क्लिक करें और पढ़ें

Loading...