NEW DELHI:- शादी दो परिवार का मिलन नहीं बल्कि दो आत्माओ का मिलन होता है. शादी का रिश्ता बहुत ही पवित्र रिश्ता होता है. इस पवित्र रिश्ते की डोर में बांधकर दो व्यक्ति आपस में मिलकर एक नया रिश्ता बनाते है. लेकिन दो महिलाओ ने इस पवित्र रिश्ते को ही बदनाम कर दिया है.

वह दोनों शादी की आड़ में अपराध को अंजाम देती थी. पुलिस ने ऐसी ही दो महिलाओ को गिरफ्तार किया है जो शादी कर लोगो को बेवकूफ बनाती थी. उनमें से एक लड़की कुंवारी बनकर और दूसरी उसकी मामी बनकर शादी में कन्यादान करती थी.

शादी की पहली रात को दुल्हन ने अपने पति को सोता छोड़कर घर का कीमती सामान लेकर फरार हो जाती.

ख़बर के अनुसार बडनगर निवासी दिनेश प्रजापति ने चिंतामन मंदिर में शादी करी थी. शादी कराने वाली एक महिला ने 80 हजार रुपए लिए थे.

शादी के अगले ही दिन दुल्हन दूल्हे के घर से बेशकीमती सामान लेकर रफ़चक्कर हो गई. पीड़ित ने ठाणे में धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराई है.

पुलिस मोबाइल नंबर और तस्वीरों के आधार पर लुटेरी दुल्हन की तलाश कर रही है. इस घटना में इंदौर के गौरी नगर निवासी सीमा उर्फ दुर्गा उर्फ दिव्या को गिरफ्तार किया गया है.

साथ ही इंदौर निवासी उसकी मामी और मामा को भी हिरासत में ले लिया गया है. सभी से पूछताछ में पता चला है की शादी के नाम पर धोखाधड़ी करते है.

यह व्यक्ति ज्यादा उम्र के लड़कों, तलाकशुदा व्यक्तियों को अपना निशाना बनाते है.

इन अपराधियों में सीमा सबसे ज्यादा खूबसूरत है. जिस वजह से उसे दुल्हन बनाकर लोगो को जाल में फंसाया जाता है.

पहले तो यह अपराधी शादी के नाम पर पैसे लेते है और मंदिर में शादी कर दुल्हन को विदा देते थे. अगली सुबह वह ससुराल के लोगों को सोता छोड़कर सामान लेकर गायब हो जाती थी.

LEAVE A REPLY