जिस उम्र में लोग बिस्तर पर पड़ जाते हैं, आखिरी सांस गिनते हैं, उस उम्र में दादाजी की फिटनेस देख नौजवान भी शरमा जाएं। इस उम्र में भी कंपनी की बागडोर संभाले हुए हैं। नाम है धर्मपाल गुलाटी। पद-सीईओ यानी मुख्य कार्यकारी अधिकारी का। 21 करोड़ सालाना सेलरी है।

यह सेलरी गोदरेज कंपनी के आदि गोदरेज और हिंदुस्तान यूनिलीवर के सीईओ संजीव मेहता से भी अधिक है। गुलाटी की कंपनी सौ से भी अधिक देशों में मसालों का निर्यात करती है।

मसालों की दुनिया में चलता है सिक्का

पांचवी कक्षा के बाद धर्मपाल गुलाटी का मन पढ़ाई से हट गया। किशोरावस्था में धंधा-पानी शुरू कर दिया। फिर एमडीएच मसाला कंपनी की नींव डाली। कंपनी के मसाले के लिए खुद गुलाटी ब्रांड अंबेसरडर बने। टीवी पर भी खुद मॉडलिंग कर एड देने लगे। अपनी गुणवत्ता और मार्केटिंग से मसाले की दुनिया में तेजी से एमडीएच का नाम छा गया। गुलाटी खुदरा उत्पाद में सबसे ज्यादा कमाई करने वाले शख्स हैं।

एमडीएच का फुल फार्म है महाशियां दी हट्टी। कंपनी ने पिछले साल 213 करोड़ का शुद्ध मुनाफा कमाया है।

LEAVE A REPLY