Loading...

इस समय सोशल मीडिया पर राजनीती का माहौल गरमाया हुआ है जी हाँ आपको बतादें कभी तो राहुल तो कभी मोदी एक दूसरे पर निशाने साधने से बाज़ नहीं आ रहे है वहीँ भाजपा की इस समय बेहद किरकिरी हो रही है जी हाँ आपको बतादें कि अब एक खबर आ रही है जिसमे भाजपा राम मंदिर बनवाना नहीं चाहती है.

इतना ही नहीं भाजपा का उद्देश्य राम मंदिर के नाम पर सत्ता हासिल करना है. यह कहना हैं द्वारकाशारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती का. रविवार को चातुर्मास प्रवास के लिए वृंदावन आए शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती के निशाने पर जहां भाजपा और मोदी-योगी सरकारें रहीं, वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की वह सराहना कर गए.

Loading...

वहीँ आपको बतादें कि शंकराचार्य ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि भाजपा राम मंदिर बनवाना नहीं चाहती है. वह आगामी लोकसभा चुनाव में राम मंदिर के नाम पर सत्ता पाना चाहती है. उन्होंने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि सरकार राम मंदिर के मुद्दे पर गुमराह कर रही है. मोदी सरकार गोहत्या रोकने, धारा 370 और समान सिविल कोड जैसे कानून नहीं बना सकी है.

हालाँकि शंकराचार्य स्वरूपानंद ने संसद में दिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भाषण की सराहना की और कहा कि लोकसभा में राहुल गांधी ने पप्पू कहने का विरोध नहीं बल्कि भाजपा की नीतियों का विरोध किया है. 27 जुलाई से शुरू हो रहे चातुर्मास व्रत के लिए पहली बार वृदावन आए शंकराचार्य ने कहा कि ब्रज की पावन भूमि भक्ति और मोक्ष के साथ-साथ शक्ति और शांति भी देती है.

Loading...