नॉटिंघम शहर में मिस्र की एक छात्रा जिन्दगी और मौत के बीच जूझ रही है, छात्रा का एक विडियो उसकी माँ ने ऑनलाइन पोस्ट किया है और साथ ही उन लोगों की आलोचना की है, जो उसकी बेटी के इस हालत को बस देखते रहे.

क्या था मामला ?

मिस्र की एक छात्रा पर 10 ब्रिटिश महिलाओं ने हमला किया, महिलाओं ने पब्लिक के सामने मिस्र की लड़की पर हमला किया और उसे 20 किमी तक घसीट कर ले जाते हुए बहुत मारा.

नॉटिंघम शहर में मिस्र की छात्रा मरयम मुस्तफा अब्देल सलाम पर कथित तौर से 10 ब्रिटिश महिलाओं द्वारा हमला किया गया.

मरयम की माँ ने एक विडियो ऑनलाइन पोस्ट की और कहा की “10 काली-गोरी लड़कियों ने पब्लिक में मेरी बेटी को सबके सामने मारा और किसी ने कुछ भी नहीं किया.” महिला की माँ ने कहा की की “मेरी बेटी को फिर चलती बस के अंदर सवार एक व्यक्ति ने बचाया”

हालाँकि रिपोर्टों में यह भी कहा गया की “ब्रिटिश महिलाओं ने मिस्र की छात्रा को तब तक पीटा जब तक मरयम बेहोश नहीं हुई”

मरयम की माँ ने कहा की “फिर बस ड्राईवर ने एम्बुलेंस को बुलाया.’

पहले भी हुआ था हमला

मरयम की माँ ने कहा की “उसकी बेटी पर अभी हाल ही में जिन दस महिलाओं ने हमला किया, उनमे से दो महिलाओं ने चार महीने पहले भी मेरी बेटी पर हमला किया था.”

मिस्र के विदेश मंत्री ने कहा की “वह इस केस की जांच कर रहे हैं.’

मिस्र के विदेश मामलों के मंत्री के प्रवक्ता अहमद अबू ज़िद ने कहा की “लन्दन में मिस्र के कांसुलेट जनरल ने लड़की के पिता को जल्द ही इस बात की सूचना दी और लड़की की गंभीर हालत के बारे में लड़की के पिता को सूचित किया.’

उन्होंने कहा कि मिस्र के कौंसुल और दूतावास के चिकित्सा सलाहकार ने छात्र के परिवार के साथ-साथ स्थानीय अधिकारियों और अस्पताल प्रबंधन के साथ नॉटिंघम का दौरा किया.

विदेश मंत्री के प्रवक्ता ने ब्रिटिश विदेश मंत्रालय को सूचित किया की “जल्द ही इस घटना की तह तक जांच की जाए और महिलाओं को अरेस्ट किया जाये.’

LEAVE A REPLY