पटना: पटना के गांधी मौदान में आयोजित पुस्तक मेले में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पद्मश्री बौआ देवी के बनाए कमल के फूल में रंग भरे. नीतीश कुमार ने जैसे ही कमल के फूल मे रंग भरा वैसे ही राजनीति गलियारों में कानाफूसी शुरु हो गई. वहीं समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत के दौरान बीजेपी सांसद गिरिराज सिंह ने कहा ‘नीतीश कुमार अपना राजनीतिक रंग भर रहे थे. वो लालू जी को बार-बार दिखाते रहते हैं कि वे स्वतंत्र हैं.’

पटना में पुस्तक मेले के उद्घाटन में पद्मश्री बौआ देवी ने मिथिला शैली में एक कमल का फूल बनाया था. इस कमल में जैसे ही नीतीश कुमार ने रंग भरा वैसे ही इसके राजनीति मायने निकाले जाने लगे. उद्घाटन के मौके पर नीतीश कुमार ने कहा कि ‘बिहार के लोगों का मन पढ़ने का होता है और ये हमेशा से उनकी पहचान रही है.’

आपको बता दें कुछ दिनों पहले 350वें प्रकाश पर्व पर के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार में शराबबंदी का अभियान चलाने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जमकर तारीफ की थी. नोटबंदी को लेकर जहां ज्यादातर राजनीतिक पार्टियां मोदी सरकार की आलोचना कर रही थीं तो वहीं नीतीश कुमार ने नोटबंदी का समर्थन किया था.

LEAVE A REPLY