नई दिल्‍ली: दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने अपना कार्यभार संभाल लिया है. पद संभालने के बाद उन्होंने कहा कि लोगों में पुलिस की ख़राब छवि को बदलने की कोशिश करेंगे. दिल्ली के कमिश्नर के पद पर रहे अलोक वर्मा को विदाई दी गयी और नए कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने अपना कार्यभार संभाल लिया. आलोक वर्मा को नया सीबीआई प्रमुख बनाया गया है. पटनायक ने पद संभालते ही कहा कि महिलाओं की सुरक्षा करना और स्ट्रीट क्राइम रोकना उनकी सबसे बड़ी प्राथमिकता रहेगी. 1985 बैच के आईपीएस अफसर अमूल्य पटनायक ने कहा कि अपराध को रोकने और दिल्ली के लोगों से पुलिस के बेहतर तालमेल की पूरी कोशिश रहेगी और वो कोशिश करेंगे की लोगों के मन से पुलिस की ख़राब छवि को वो दूर कर सकें.

हालांकि दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस के तालमेल को लेकर वो कुछ नहीं बोले. नजीब और सुनन्दा केस को लेकर भी फिलहाल उन्होंने कोई जबाब नहीं दिया. अमूल्य पटनायक का कार्यकाल अगले 3 साल तक रहेगा ऐसे में देखना होगा की अपराध से जूझती दिल्ली और दिल्ली सरकार से हो रही तकरार का सामना कैसे करते हैं.
पटनायक 1985 बैच के अरुणाचल प्रदेश-गोवा-मिजोरम एवं केंद्र शासित प्रदेश कैडर (AGMUT) के भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के अधिकारी हैं. पटनायक अभी तक स्पेशल कमिश्नर (एडमिनिस्ट्रेशन) थे. पुलिस कमिश्नर की रेस में तीन अफसरों का नाम चल रहा था, जिसमें 1984 बैच के आईपीएस अफसर दीपक मिश्रा और धर्मेंद्र कुमार भी थे, लेकिन इन दोनों अफसरों की वरिष्ठता को दरकिनार कर अमूल्य पटनायक को नया पुलिस कमिश्नर बनाया गया. पटनायक का कार्यकाल 2020 तक का होगा.

इससे पहले पटनायक पुदुचेरी में एसएसपी, दिल्ली में डीसीपी साउथ, डीसीपी ईस्ट, ज्वाइंट सीपी सदर्न रेंज, ज्वाइंट सीपी क्राइम, ज्वाइंट सीपी ऑपरेशंस, स्पेशल सीपी विजिलेंस, आईजी एसपीजी, डीजीपी मिजोरम रह चुके हैं. पटनायक को 2002 और 2009 में सराहनीय और विशिष्ट सेवा के लिए अवॉर्ड भी मिल चुके हैं.

LEAVE A REPLY