शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और दूसरे अन्य शीर्ष नेताओं की संपत्ति सार्वजनिक कराने को कहा है। साथ-ही-साथ शिवसेना ने उद्धव ठाकरे की संपत्ति की जांच कराने की भी चुनौती दी।

गुरुवार को शिवसेना सांसद राहुल शेवाले ने कहा कि भाजपा ठाकरे परिवार और दूसरे शिवसेना नेताओं पर भ्रष्टाचार के निराधार आरोप लगा रही है। इस तरह के दावों से पहले मैं प्रधानमंत्री मोदी से अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय नेताओं की संपत्ति सार्वजनिक करने की चुनौती देता हूं।

उन्होंने कहा कि केंद्र और महाराष्ट्र में भाजपा की सरकार है। अगर भाजपा के पास साहस है तो वे ठाकरे परिवार की संपत्ति और उनके वित्त की जांच करें। इसके बाद उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को सबूत के साथ बात करनी चाहिए, यह सोचकर कुछ भी नहीं बोल देना चाहिए कि वे इससे बच जाएंगे। इस तरह के आरोप लगाकर भाजपा पहले ही हार स्वीकार कर चुकी है।

वहीं इसके इसके जवाब में भाजपा प्रवक्ता माधव भंडारी ने कहा है कि ऐसा लग रहा है कि शिवसेना अमित शाह के वर्ष 2012 के चुनावी हलफनामे को भूल चुकी है। बहरहाल, उनकी मांगों को पूरा करने के लिए हम एक बार फिर उनके हलफनामे को जारी कर रहे हैं।

भंडारी ने यह भी कहा कि जहां तक ठाकरे परिवार की संपत्ति की जांच की बात है, हमने अब तक जांच करने की बात नहीं कही है और उनको ऐसा करने के लिए हमें बाध्य नहीं करना चाहिए। बता दें कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कल उद्धव ठाकरे से अपनी संपत्ति सार्वजनिक करने की मांग की थी। फडणवीस ने आरोप लगाया था कि ‘मराठी मानुस’ की लड़ाई के नाम पर शिवसेना अमीर होती जा रही है।

LEAVE A REPLY