यूपी चुनाव के दौरान मनाही के बावजूद दैनिक जागरण द्वारा एग्ज़िट पोल छापने के मामले में एक और बात सामने आई है।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार, जागरण के सम्पादक-मालिक और सीईओ संजय गुप्ता ने कहा है कि उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में दूसरे चरण के मतदान से पहले जागरण द्वारा शाया किया गया एग्ज़िट पोल उनके विज्ञापन विभाग का काम था, जो वेबसाइट पर प्रकाशित हुआ।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक इस भाजपा के पक्ष में दिखाए गए इस सर्वे के प्रकाशित होने के बाद भाजपा समर्थकों-प्रचारकों ने सोशल मीडिया पर फैलाने का काम किया ताकि अगले चरण के मतदान को प्रभावित किया जा सके। लेकिन अब यह बात साफ़ हो चुकी है कि संस्थान को पैसे देकर छपवाया गया था।

बता दें कि इसकी आचार सहिंता का उल्लंघन करने वाले दैनिक जागरण डॉट कॉम के एडिटर शेखर त्रिपाठी को गिरफ्तार भी किया गया था।

LEAVE A REPLY