न्यूयॉर्क: कॉफी चेन चलाने वाली कंपनी स्टारबक्स ने सात मुस्लिम बहुल देशों से लोगों के आने पर बैन लगाने के अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश पर विरोध जताते हुए कहा है कि वह पांच साल में दुनिया भर में 10,000 शरणार्थियों को नौकरी देगी. उसने कहा है कि वह इस मामले में ‘चुप नहीं बैठेगी’ मानवता की भावना बढाने का काम करती रहेगी.

ट्रंप के आदेश पर स्टारबक्स के चेयरमैन और मुख्य कार्यकारी अधिकारी हार्वर्ड स्क्ल्ट्ज ने एक संदेश में कहा है, ‘‘मैं आज आपको गहरी चिंता, भारी मन और दृढ़ विश्वास के साथ यह लिख रखा हूं. हम ऐसे दौर में आ गए हैं समय में पहुंच गए हैं जैसा पहले कभी नहीं रहा. हम देख रहे है कि हमारे देश की अंतरआत्मा और ‘अमेरिके सपनों’ को चुनौती दी जा रही है, उस पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं.’’

स्क्ल्ट्ज ने कहा कि उनकी कंपनी अमेरिका की नयी सरकार के कामों से हर रोज बढ़ रही अनिश्चितता के इस दौर में ‘ न तो किनारे खड़ी रहेगी और न ही मूक दर्शक बनेगी.’ स्टारबक्स प्रमुख ने कहा कि कंपनी का अवसर की तलाश में रहने वाले युवाओं को नौकरी देने और दुनियाभर में एक नए जीवन का रास्ता दिखाने का लंबा इतिहास रहा है.

उन्होंने कहा कि कंपनी युद्ध, हिंसा, उत्पीड़न और भेदभाव के शिकार जो लेग अवसरों की तलाश में होंगे वह उनका स्वागत करेगी.’’ स्क्ल्ट्ज ने कहा कि उनकी कंपनी अगले पांच सालों में भारत समेत अपने 75 देशों में फैले कारोबार में 10,000 शरणार्थियों को नौकरी देने की योजना बना रही है.

LEAVE A REPLY