अभी-अभी आ रही खबरों के मुताबिक गोधरा दंगों के मामले में कोर्ट ने सभी 28 आरोपियों को बरी कर दिया है।

गांधीनगर कोर्ट ने सबूत के अभाव में इन सभी आरोपियों को बरी किया है। इन सभी लोगों पर गोधरा स्टेशन पर ट्रेन में आगजनी के एक दिन बाद कलोल तालुका के पलियाड गांव में दंगा फैलाने, आगजनी और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगा था।

रिपोर्ट के मुताबिक इस हिंसा में करीब 5 लाख की संपत्ति को नुकसान पहुंचा था। कोर्ट ने 31 जनवरी को आदेश देकर कहा था कि इस मामले में आरोपी और पीड़ित के बीच समझौता हो चुका है और 28 फरवरी 2002 को हुई हिंसा को लेकर कोर्ट के सामने पर्याप्त सबूत पेश नहीं किए जा सके।

कोर्ट ने वकील की उस बात से सहमति जताई और कहा कि इस मामले में जांच ठीक तरह से नहीं की गई और यह बात जांच कर रहे अधिकारी ने भी मानी है।

LEAVE A REPLY